IOC की घोषणा, 2032 में ओलंपिक खेलों की मेजबानी करेगा ब्रिसबेन

साल 2032 में ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने वाले शहर की घोषणा कर दी गई है। ऑस्ट्रेलिया का ब्रिसबेन शहर साल 2032 में होने वाले ओलंपिक खेलों की मेजबानी करेगा। इसकी घोषणा अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने की। यह पहले से ही उम्मीद की जा रही थी कि इस बार ब्रिसबेन को मेजबानी मिलेगी। वहीं बुधवार की इसकी औपचारिक घोषणा भी कर दी गई। ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन शहर को वोटिंग के बाद 2032 ओलंपिक खेलों का आधिकारिक मेजबान घोषित किया गया। यह तीसरा मौका होगा जब ऑस्ट्रेलिया में ओलंपिक खेलों का आयोजन किया जाएगा। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया साल 1956 में मेलबर्न और 2000 में सिडनी में ओलंपिक खेलों की मेजबानी कर चुका है।

ब्रिसबेन के ओलंपिक खेलों की मेजबानी मिलने के बाद ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मैरिसन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, हमारी सरकार को इस बात का गर्व है कि ब्सबेन और क्वींसलैंड को खेलों के महाकुंभ ओलंपिक की मेजबानी करने का मौका मिला है, उन्होंने आगे कहा कि ऑस्ट्रेलिया और क्वींसलैंड की सरकार ओलंपिक की मेजबानी करने के लिए तैयार है, हम इनका शानदार और भव्य तरीके से आयोजन करेंगे। पीएम मैरिसन ने यह भी कहा कि हमें पता है कि इऩ खेलों का आयोजन कैसे किया जाता है।

टोक्यो ओलंपिक 2020 के बाद साल 2024 में इन खेलों का आयोजन पेरिस में किया जाएगा। वहीं 2028 में लॉस एंजेलिस ओलंपिक खेलों की मेजबानी करेगा। वहीं ब्रिसबेन नए बिडिंग सिस्मट का पहला विजेता है और उसके पास खेलों की मेजबानी करने के लिए आठ साल का वक्त है। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक परिषद कुछ मजबूत और नए देशों को ओलंपिक की मेजबानी करने के लिए चुनती है।

आईओसी ने जैसे ही ब्रिसबेन को 2032 ओलंपिक खेलों के चुने जाने की घोषणा की तो ऑस्ट्रेलिया के लोग फूले नहीं समाए। ऑस्ट्रेलिया के कई शहरों में लोगों आतिशबाजी कर इसे जश्न के रूप में मनाया।
-एजेंसियां