कोरोना के बाद चीन पर अब लगा वैश्विक साइबर हैकिंग अभियान चलाने का आरोप

संयुक्त राज्य अमेरिका और सहयोगियों के गठबंधन ने सोमवार को चीन के राज्य सुरक्षा मंत्रालय पर एक वैश्विक साइबर हैकिंग अभियान का आरोप लगाया है। विशेष रूप से इस साल की शुरुआत में बीजिंग की ओर से काम करने वाले हैकर्स के लिए एक बड़े Microsoft हमले का खुलासा किया।
सोमवार सुबह जारी व्हाइट हाउस की फैक्ट शीट के अनुसार चीन के साथ तनाव का एक नया क्षेत्र खुल गया है। संयुक्त राज्य अमेरिका आरोप लगाने के लिए नाटो, यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, जापान, न्यूजीलैंड और कनाडा के साथ खड़ा हो गया है।
अमेरिकी वरिष्ठ प्रशासन अधिकारी ने घोषणा से पहले संवाददाताओं से कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे सहयोगी और साझेदार दुर्भावनापूर्ण साइबर गतिविधियों के पीआरसी (पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के) पैटर्न के और विवरण को उजागर कर रहे हैं और इसका मुकाबला करने के लिए आगे की कार्यवाही कर रहे हैं।”
वॉशिंगटन में चीनी दूतावास ने टिप्पणी के अनुरोध का तुरंत जवाब नहीं दिया। चीनी अधिकारियों ने पहले कहा है कि चीन भी हैकिंग का शिकार है और सभी प्रकार के साइबर हमलों का विरोध करता है। अधिकारी ने कहा कि अमेरिकी संघीय एजेंसियां, जिनमें राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद, एफबीआई और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी शामिल हैं, 50 से अधिक तकनीकों और प्रक्रियाओं की रूपरेखा तैयार करेंगी, जिनका उपयोग चीनी एजेंसी अमेरिकी नेटवर्क को टारगेट करने में करते हैं।
-एजेंसियां