Paytm ने 16,600 करोड़ रुपये के IPO के लिए SEBI को आवेदन भेजा

नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट्स प्रोवाइडर कंपनी पेटीएम Paytm ने 16,600 करोड़ रुपये के IPO के लिए मार्केट रेग्युलेटर सेबी SEBI को आवेदन भेजा है। इसमें 8,300 करोड़ रुपये के ताजा शेयर होंगे जबकि ओएफएस के जरिए 8,300 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री की जाएगी। यह अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा। देश में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ कोल इंडिया लिमिटेड का था। 2010 में कंपनी ने इसके जरिए 15,000 करोड़ रुपये से अधिक राशि जुटाई थी।
माना जा रहा है कि कंपनी का आईपीओ दिवाली के आसपास आ सकता है। पेटीएम में Berkshire Hathaway Inc, चीन के Ant Group और जापान के SoftBank का निवेश है। नोएडा की इस कंपनी का मालिकाना हक One97 Communications Ltd के पास है।
कंपनी का कहना है कि वह आईपीओ से मिलने वाली धनराशि का उपयोग अपने पेमेंट इकोसिस्टम को मजबूत बनाने और नए बिजनेस इनिशिएटिव्स और अधिग्रहण के लिए करेगी। इस आईपीओ के लिए JPMorgan Chase, Morgan Stanley, ICICI Securities, Goldman Sachs, Axis Capital, Citi और HDFC Bank को बुकिंग रनिंग मैनेजर्स बनाया गया है।
रीटेल निवेशकों के लिए 10 फीसदी हिस्सा
सेबी के पास फाइल किए गए DRHP के मुताबिक आईपीओ का 75 फीसदी हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व रखा गया है। कंपनी क्यूआईबी पोर्शन में से 60 फीसदी तक एंकर निवेशकों को अलॉट कर सकती है। इश्यू का 15 फीसदी हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशन इनवेस्टर्स (NII) और 10 फीसदी रीटेल निवेशकों के लिए होगा। कंपनी ने कुछ हिस्सा कर्मचारियों के लिए भी रिजर्व रखा है लेकिन इसकी जानकारी DRHP में नहीं दी गई है।
बाजार में दबदबा
पेटीएम के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा पिछले एक साल से रेवेन्यू बढ़ाने और पेटीएम की सर्विसेज को मॉनिटाइज करने में लगे हैं। स्टार्टअप ने अपना कारोबार डिजिटल पेमेंट्स के बाहर बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, फाइनेंशियल सर्विसेज, वेल्थ मैनेजमेंट और डिजिटल वॉलेट के क्षेत्र में फैलाया है। पेटीएम ने PhonePe, Google Pay, Amazon Pay और WhatsApp Pay की चुनौती का सफलतापूर्वक सामना किया है।
देश के मर्चेंट पेमेंट्स में इसकी बाजार हिस्सेदारी सबसे अधिक है। कंपनी के हालिया ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक पेटीएम के 2 करोड़ से अधिक मर्चेंट पार्टनर्स हैं और इसकी यूजर हर महीने 1.4 अरब ट्रांजेक्शन करते हैं। शर्मा ने हाल में कहा था कि पेटीएम के लिए इस साल के पहले तीन महीने सबसे अच्छे रहे। इस दौरान कोविड-10 महामारी के कारण डिजिटल पेमेंट्स में काफी तेजी आई।
-एजेंसियां