नौकरी संवाद कैंपेन के जरिए विधानसभा चुनाव की जमीन तैयार कर रही हैं प्रियंका

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी के दिशा-निर्देश पर कांग्रेस पार्टी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी है। कांग्रेस पार्टी यूपी में युवाओं की फौज तैयार कर रही है। यूथ कांग्रेस ने बीते चार महीनों में यूपी में 77 हजार नए सदस्य बनाए हैं। यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता नौकरी संवाद कर विधानसभा चुनाव 2022 के लिए जमीन तैयार करने में जुटे हैं। नौकरी संवाद कैंपेन को खुद प्रियंका गांधी हैंडल कर रही हैं।
यूथ कांग्रेस का सदस्यता अभियान जनवरी महीने से शुरू हुआ था लेकिन कोरोना की दूसरी लहर की वजह से इस अभियान को बंद करना पड़ा। कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद जून महीने से दोबारा सदस्यता अभियान की शुरूआत की गई। यूथ कांग्रेस की तरफ से युद्ध स्तर पर सदस्यता अभियान चलाया जा रहा है। संगठन का दावा है कि यूपी के अंदर विधानसभा चुनाव से पहले बड़ी संख्या में युवाओं की टीम उनके पास होगी।
यूथ कांग्रेस के संगठन मंत्री अभिनव तिवारी के अनुसार उनकी कार्यकारिणी मार्च और अप्रैल के महीने में आई है। यूपी ईस्ट और वेस्ट में हमने ब्लॉक और बूथ स्तर पर नए सदस्य बनाए हैं। जिला स्तर की कमेटी गठित होने पर सदस्यता अभियान में तेजी आई है। यूपी की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है। यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने बेराजगारी को ही मुख्य मुद्दा बनाया है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर ने बेरोजगारी की समस्या को बढ़ा दिया है। इसलिए यूथ कांग्रेस ने नौकरी संवाद कार्यक्रम की शुरूआत की है।
संगठन मंत्री अभिनव तिवारी का दावा है कि यूपी में 3 बेराजगार प्रतिदिन आत्महत्या कर करते हैं। पिछले एक दशक में यूपी में लगभग एक हजार कारखाने बंद हो चुके हैं। कोरोना में बड़ी संख्या में लोगों को अपनी नौकरी गवांनी पड़ी है। सरकारी नौकरी निकलती है, लेकिन भर्ती नहीं होती। हमारी मांग है कि सरकारी नौकरी निकलने के बाद एक साल की भीतर भर्ती की जाए। किसी भी विभाग में संविदा की जगह स्थायी नौकरी दी जाए। नए उद्योग धंधे लगाए जाएं, जिससे यूपी के युवाओं को दूसरे राज्यों में रोजगार के नहीं जाना पड़े। नौकरी नहीं मिलने पर, लोगों को बेरोजगारी भत्ता दिया जाए।
विधानसभा चुनाव में बनेगा मुद्दा
नौकरी संवाद में इन्ही मुद्दों के साथ हम युवाओं के बीच जा रहे हैं। परेशान युवा इन बातों को समझ रहा है। प्रेदश सरकार की जनविरोधियों नीतियों से आम लोग परेशान हैं। मंहगाई ने लोगों की कमर तोड़ कर रख दी है। पेट्रोलिय पर्दाथों के दाम आसमान छू रहे हैं। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी बेरोजगारी और मंहगाई को सबसे बड़ा मुद्दा बनाएगी।
-एजेंसियां