मानसून सत्र में सरकार को घेरने की जिम्‍मेदारी कांग्रेस ने खड़गे को सौंपी

नई दिल्‍ली। मानसून सत्र से पहले कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की रणनीति कांग्रेस की ओर से तैयार की जा रही है। संसद के भीतर केंद्र सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस विपक्षी दलों के साथ भी संपर्क साधेगी। पार्टी की ओर से इस काम के लिए मल्लिकार्जुन खड़गे को चुना गया है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे दूसरे विपक्षी दलों के साथ समन्वय का काम देखेंगे।
कांग्रेस की स्ट्रेटजी कमेटी की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के नेताओं से दूसरे विपक्षी दलों के साथ बेहतर तालमेल बिठाने की बात कही। साथ ही यह भी कहा कि लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही जगहों पर पार्टी का एक जैसा स्टैंड होना चाहिए। बैठक में शामिल सभी नेताओं से सोनिया गांधी ने फ्लोर मैनेजमेंट पर जोर देने की बात कही।
इस बार नजर टीएमसी सांसदों पर भी होगी, जिनकी संसद में सक्रिय भूमिका निभाने की संभावना अधिक है। स्ट्रेटजी कमेटी की बैठक में राहुल गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, लोकसभा पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी, जयराम रमेश, आनंद शर्मा, एलएस मैनेजर के सुरेश, गौरव गोगोई, माणिक टैगोर और मनीष तिवारी शामिल थे।कांग्रेस ने फैसला किया कि वह संसद के मानसून सत्र में राफेल विमान सौदे की फ्रांस में हो रही जांच, कोरोना महामारी, टीकाकरण की धीमी रफ्तार, किसान आंदोलन और महंगाई के मुद्दे पर सरकार को घेरेगी।
-एजेंसियां