जम्‍मू की कोट भलवाल जेल पर पुलिस का छापा, तमाम आपत्तिजनक चीजें बरामद

जम्मू पुलिस ने सेंट्रल जेल कोट भलवाल में बड़ी कार्यवाही की गई है। गुरुवार तड़के करीब ढाई बजे जेल में छापा मारा गया, जोकि सुबह दस बजे तक चला। जेल के अंदर कैदियों और बैरकों की तलाशी ली गई जिसमें नौ मोबाइल फोन, सिम कार्ड, पैन ड्राइव, कार्ड, ब्लूटूथ समेत काफी सामान बरामद हुआ है।
इस ऑपरेशन में पुलिस, सीआरपीएफ, सीआईडी सीआई की टीमें मौजूद थीं। एडीजीपी जम्मू मुकेश सिंह खुद मौके पर मौजूद थे। उनके साथ एसएसपी जम्मू चंदन कोहली, एसएसपी सीआईडी सीआई श्रीघर पाटिल, एसएसपी सीआरपीएफ, एसपी, डीएसपी तथा कई थानेदार मौजूद थे। इस प्रकार से पहली बार कार्यवाही हुई है जब इतनी बड़ी टीम ने अचानक जेल के अंदर छापा मारा है।
जानकारी के अनुसार रात करीब ढ़ाई बजे ये टीमें जेल में पहुंचीं। इनमें करीब 200 से अधिक जवान शामिल थे। सोते हुए कैदियों को बैरकों से बाहर निकाला गया। एक-एक बैरक की तलाशी ली गई। इस जेल में पाकिस्तानी आतंकियों से लेकर स्थानीय आतंकी, गैंगस्टर तथा कई बड़े अपराधी बंद हैं।
सुबह तक पूरी जेल को खंगाला गया। जिसमें बैरकों के अलावा ग्राउंड तथा जेल के अंदर की तमाम जगहें शामिल थीं। जेल के अंदर से पुलिस को करीब नौ मोबाइल फोन बरामद हुए। इसके अलावा ऐसा सामान बरामद हुआ है जोकि जेल के अंदर नहीं रखा जा सकता है। सामान को बरामद करने का काम सुबह दस बजे तक चलता रहा। पुलिस अफसर इस दौरान खुद मौके पर ही मौजूद रहे।
अति संवेदशनील है कोट भलवाल जेल
कोट भलवाल जेल को अति संवेदनशील कहा जाता है। यहां पर दर्जनों पाकिस्तानी आतंकी बंद है। कुल मिलाकर इस जेल में करीब आठ सौ कैदी बंद है। इनमें आतंकियों के अलावा गैंगस्टर भी शामिल हैं।
फोन का इस्तेमाल लगातार हो रहा
जेल के अंदर फोन का लगातार इस्तेमाल हो रहा है। ऐसी शिकायत कई बार पहले भी आ चुकी है। मई माह में सीआईडी की तरफ से एक छापा मारा गया था। उस समय भी अंदर से मोबाइल फोन बरामद हुए थे। उसके बाद अब फिर से मोबाइल फोन बरामद हुए हैं।
नागर मामले में जेल का लिंक बाहर आया
इसी साल शहर के नामी व्यापारी नागर चौधरी के घर पर फायरिंग हुई थी। जब जम्मू पुलिस की तरफ से इस मामले की जांच शुरू की गई थी तो जांच के दौरान जेल का रोल सामने आया था। जेल में बंद गैंगस्टर रायल सिंह का हाथ इस कांड में शामिल पाया गया था। इस वारदात का जेल के अंदर ही प्लान बनाया गया था। जिसके बाद एक जेल विभाग के कर्मचारी को भी गिरफ्तार किया गया था।
कुछ दिन पहले जेल में हुई है पार्टी
जेल के अंदर कुछ दिन पहले एक पार्टी भी हुई थी। जिसमें दो बड़े गैंगस्टरों के फोटो तक बाहर आए हैं। इसमें गैंगस्टर एक साथ खड़े हैं। हांलाकि दोनों पहले एक दूसरे के खिलाफ थे लेकिन इस ताजा फोटो में एक साथ दिखे हैं। सूत्रों का कहना है कि इसके बाद ही पुलिस की तरफ से छापे का प्लान बनाया गया और गुरुवार तड़के अचानक छापा मारा गया।
-एजेंसियां