राजीव एकेडमी में हुई सेल्सफोर्स इम्प्लीमेंटेशन एण्ड क्विक स्टार्ट्स कार्यशाला

मथुरा। राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट के एमसीए विभाग द्वारा बुधवार को सेल्सफोर्स इम्प्लीमेंटेशन एण्ड क्विक स्टार्ट्स पर आनलाइन वर्कशाप का आयोजन किया गया, जिसमें आईटी विशेषज्ञ योगेश शर्मा ने छात्र-छात्राओं को क्लाउडबेस्ड कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अच्छी कस्टमर सेवा कम्पनी के प्रोडक्शन को चार चांद लगाती है। इस कार्यशाला में बड़ी संख्या में एमसीए के विद्यार्थियों ने भाग लिया।

श्री शर्मा ने विद्यार्थियों को सेल्सफोर्स इम्प्लीमेंटेशन का अर्थ समझाते हुए कहा कि आज के परिप्रेक्ष्य में इसका महत्व बहुत अधिक है। उन्होंने क्लाउडबेस्ड कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट (सीआरएम) के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि यह साफ्टवेयर किस प्रकार से कस्टमर रिलेशनशिप इंटीग्रेशन के साथ-साथ अन्य प्रकार के तकनीकी सिस्टम के माध्यम से मार्केटिंग, सेल्स, सर्विसेज एवं ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कस्टमर को सेवाएं प्रदान कर रहा है।

श्री शर्मा ने कहा कि सीआरएम सिस्टम के साथ आप ग्राहक सम्पर्क रिकॉर्ड रखने के अलावा भी बहुत कुछ कर सकते हैं। आप लीड स्कोरिंग, फॉलोअप या ट्रैकिंग स्टोरेज जैसी चीजों को भी स्वचालित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में लेटेस्ट टेक्निक के सॉफ्टवेयर्स आ गए हैं जिनके माध्यम से कस्टमर्स को बेहतर से बेहतर सर्विसेज मुहैया कराई जा रही है। श्री शर्मा ने कहा कि आज के समय में किसी वस्तु का विक्रय करना जितना महत्वपूर्ण है उससे कहीं अधिक जरूरी है ग्राहक को दी जाने वाली सेवा। यदि कस्टमर दी जाने वाली सर्विसेज से सन्तुष्ट होता है तो इसका सीधा प्रभाव कम्पनी के प्रोडक्शन सेल्स एवं व्यवहार पर पड़ता है।

इसीलिए राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी कम्पनियों द्वारा भिन्न-भिन्न प्रकार के (सीआरएम) को अधिक से अधिक उपयोगिता दी जाती है। आज तकनीकी विशेषज्ञ इस प्रकार के साफ्टवेयर के निर्माण में लगे हैं तथा एमसीए करने वाले विद्यार्थी भी अपनी तकनीकी दक्षता के माध्यम से अनेकों कम्पनियों के लिए उनकी आवश्यकतानुसार सॉफ्टवेयर बना रहे हैं। इस दिशा में अभी और कार्य अपेक्षित है। संस्थान के निदेशक डॉ. अमर कुमार सक्सेना ने आईटी विशेषज्ञ योगेश शर्मा का आभार माना।