श्रीलंका क्रिकेट में केंद्रीय अनुबंध पर विवाद: सीनियर्स पर बरसे मुरलीधरन

कोलंबो। श्रीलंका के पूर्व दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने केंद्रीय अनुबंध के विवाद के लिए राष्ट्रीय टीम के सीनियर खिलाड़ियों की आलोचना की है। पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज और कुसल परेरा जैसे सीनियर खिलाड़ियों सहित कई खिलाड़ियों का केंद्रीय अनुबंध को लेकर श्रीलंका क्रिकेट (SLC) के साथ लंबे समय से विवाद चल रहा है। ऐसे में कई श्रीलंकाई क्रिकेटर्स इंग्लैंड दौरे पर टूर कॉन्ट्रैक्ट पर खेलने गए थे। जानकारी के अनुसार श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने पारदर्शिता के मुद्दों पर अनुबंध पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। हालांकि, मुरलीधरन ने कहा कि सीनियर खिलाड़ियों ने मुख्य रूप से ऐसा इसलिए किया क्योंकि उन्हें नई प्रदर्शन-आधारित प्रणाली के तहत कम वेतन मिलता।

मुरली ने हीरू टीवी से कहा, ‘इस साल हमें लगता है कि उन्हें केंद्रीय अनुबंध की आवश्यकता नहीं है। हम टूर कॉन्ट्रैक्ट के साथ आगे बढ़ सकते हैं। क्रिकेटरों ने 18 जुलाई से शुरू होने वाली भारत के खिलाफ सीरीज से पहले टूर कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 800 विकेट लेने वाले 49 वर्षीय मुरलीधरन ने कहा कि सीनियर क्रिकेटरों ने अन्य युवा खिलाड़ियों को उनके वेतन में कटौती के कारण अनुबंध पर हस्ताक्षर नहीं करने दिया। अब जब बोर्ड की ओर से पेशकश की गई, तो खिलाड़ियों ने इसे नहीं लिया ऐसे में उन्हें केंद्रीय अनुबंध नहीं मिलेगा।

कई सीनियर खिलाड़ी जो वनडे टीम का हिस्सा नहीं हैं, अब श्रीलंका क्रिकेट (SLC) द्वारा वार्षिक अनुबंध वापस लेने के बाद अब उनके पास कोई डील नहीं है। पारदर्शिता विवरण सामने आने के बाद कुछ खिलाड़ी बाद में केंद्रीय अनुबंधों पर हस्ताक्षर करने के लिए सहमत हुए थे, लेकिन एसएलसी ने केवल उन्हें टूर कॉन्ट्रैक्ट की पेशकश की थी। मुरली ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट के नए कदम के लिए धन्यवाद, क्रिकेटरों को अब मासिक आधार पर भुगतान नहीं किया जाएगा, जिससे टेस्ट खिलाड़ी सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे, क्योंकि उनका नवंबर तक कोई दौरा निर्धारित नहीं है।
– एजेंसी