Zomato के IPO को लेकर LIC में भी उत्‍साह, बोली लगाने की तैयारी

फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो Zomato के IPO को लेकर निवेशकों में गजब का उत्साह है। सूत्रों के मुताबिक देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी LIC भी इसमें बोली लगाने की तैयारी में है। संभवतः यह पहला मौका होगा जब एलआईसी किसी गैर-सरकारी कंपनी के इश्यू में हिस्सा लेगी। एलआईसी देश की सबसे बड़ी संस्थागत निवेशकों में से एक है और सेकंडरी मार्केट में ही पैसा लगाती है। जोमैटो का 9,375 करोड़ रुपये का आईपीओ 14 जुलाई को खुल रहा है।
सूत्रों के हवाले से बताया कि एलआईसी जोमैटो के आईपीओ में हिस्सा लेने की तैयारी में है। एक सूत्र ने बताया कि जोमैटो का ग्रोथ कर्व दिखाता है कि देश तेजी से इंटरनेट इकॉनमी की तरफ बढ़ रहा है। एक अन्य सूत्र ने कहा कि एलआईसी को इनवेस्टमेंट कमेटी की जल्दी ही एक बैठक होगी जिसमें जोमैटो के आईपीओ में निवेश के बारे में अंतिम निर्णय लिया जाएगा। इस बारे में एलआईसी के प्रवक्ता को भेजे गए ईमेल का कोई जवाब नहीं आया।
एलआईसी का निवेश
31 मार्च को खत्म तिमाही के आंकड़ों के मुताबिक एलआईसी की पब्लिक कंपनियों में होल्डिंग्स ऑल टाइम लो पहुंच गई। एलआईसी के 296 कंपनियों में 1 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी है। यह इन कंपनियों के कुल मार्केट 3.66 फीसदी के बराबर है। 31 दिसंबर को खत्म तिमाही में यह 3.7 फीसदी थी। एलआईसी अमूमन सरकारी कंपनियों के पब्लिक इश्यू में ही हिस्सा लेती है जो सरकार के विनिवेश कार्यक्रम का हिस्सा होते हैं।
जोमैटो का वैल्यूएशन जनवरी में 5.4 अरब डॉलर था जो जून में 8 अरब डॉलर से अधिक पहुंच गया। कोरोना काल में लोग बाहर निकलने से डर रहे हैं जिसके कारण ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स की लोकप्रियता बढ़ी है। इस आईपीओ के लिए बैंड प्राइस 72 से 76 रुपये रखा गया है। जोमैटो अभी घाटे में चल रही है और वित्त वर्ष 2023 में उसके पहली बार मुनाफे में आने की उम्मीद है।
-एजेंसियां