आगरा के 10 मरीजों में म‍िला कोरोना का डेल्टा वैरिएंट

आगरा। जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच के बाद आज 10 संक्रमितों में कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई ज‍िसमें क‍ि हाथरस, फिरोजाबाद, मैनपुरी, सहारानपुर के छह मरीजों भी शाम‍िल हैं। एसएन मेडिकल कॉलेज की माइक्रो बायलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. आरती अग्रवाल ने बताया कि पांच जून को 40 और 26 जून को 20 संक्रमितों के नमूने इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी दिल्ली में जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे। इनमें से 40 नमूनों की रिपोर्ट मिली हैं, जिसमें से 16 में डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई है। इनमें से 10 संक्रमित आगरा के हैं, जिनमें पांच मरीज ठीक हो चुके हैं। बाकी के छह मरीज मैनपुरी, फिरोजाबाद, हाथरस और सहारनपुर के हैं।

हाथरस, मैनपुरी, फिरोजाबाद, सहारनपुर में भी डेल्टा वैरिएंट के मिले मरीज
एसएन मेडिकल कॉलेज की माइक्रोबायलॉजी विभाग में हाथरस, मैनपुरी, सहारनपुर समेत अन्य जिलों के नमूनों की भी जांच की जाती है। ऐसे में एसएन कॉलेज को मिली 16 नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग में से छह मरीजों में से हाथरस में दो, फिरोजाबाद में दो, मैनपुरी और सहारनपुर में एक-एक मरीज में डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई है।

मृतकों की उम्र 70 साल से अधिक के
माइक्रो बायलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. आरती अग्रवाल ने बताया 20 से अधिक उम्र के मरीजों के नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराई गई। इसमें से मरने वाले आठ मरीजों की उम्र 70 साल से अधिक की रही। यह अस्पताल में भर्ती रहे, हाई फ्लो ऑक्सीजन पर थे या फिर आईसीयू में भर्ती थे।

एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि आगरा में 10 और अन्य जिलों के छह मरीजों में डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई है। अभी 20 नमूनो की रिपोर्ट आना बाकी है। 33 नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए केजीएमयू भेजा गया है।

-एजेंसी