मोदी कैबिनेट का विस्‍तार हुआ, पूर्व सीएम से लेकर नौकरशाह तक ने ली मंत्रिपद की शपथ

नई दिल्‍ली। बुधवार शाम को हुए कैबिनेट विस्तार में 43 मंत्रियों ने शपथ ली है। इसमें आने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए यूपी जैसे राज्य से कई लोगों को जगह दी गई है। वहीं असम के पूर्व सीएम सर्वानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र के पूर्व सीएम नारायण राणे, कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया को जगह दी गई है। वहीं सहयोगी दलों से जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिंह, अपना दल की अनुप्रिया पटेल, एलजेपी के बागी धड़े से पशुपति कुमार पारस को भी नए मंत्रिमंडल में जगह दी है।
नारायण राणे को मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। शिवसेना में रहे राणे 10 महीनों के लिए महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री रहे थे। शिवसेना से राजनीतिक सफर शुरू करने वाले राणे बाद में कांग्रेस में शामिल हुए। फिर उनका मन भर गया और अलग पार्टी बना ली। अक्‍टूबर 2019 में उन्होंने भाजपा जॉइन की थी।
असम के पूर्व CM सर्वानंद सोनोवाल की मोदी कैबिनेट में वापसी
असम के पूर्व मुख्‍यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल की मोदी कैबिनेट में वापसी हुई है। वह 2014 से 2016 के बीच खेल और युवा मामलों का मंत्रालय देखते थे। 2016 में उन्‍हें असम में भाजपा का पहला मुख्‍यमंत्री बनाया गया। 2011 में भाजपा के सदस्‍य बने सोनोवाल को अगले साल असम बीजेपी की कमान सौंप दी गई। इस साल वह माजुली से विधानसभा चुनाव जीते मगर हिमंता बिस्‍व सरमा के लिए सीएम पद छोड़ दिया। अब उन्‍हें केंद्र में जगह मिली है।
कमलनाथ सरकार गिराने का सिंधिया को मिला इनाम
मध्‍य प्रदेश से राज्‍यसभा सांसद ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। पिछले साल तक सिंधिया कांग्रेस के साथ थे। उनके पास मनमोहन सिंह 2 सरकार में राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) रहने का अनुभव है। सिंधिया गुना सीट से लोकसभा सांसद भी रहे हैं। ग्वालियर चंबल-अंचल में सिंधिया का दबदबा रहा है।
अनुराग ठाकुर को प्रमोशन
हिमाचल प्रदेश के महीरपुर से सांसद और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर को कैबिनेट विस्तार में प्रमोशन मिला है। उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। अनुराग हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम धूमल सिंह बेटे हैं। वे बीसीसीआई अध्यक्ष भी रह चुके हैं।
जेडीयू कोटे से आरसीपी सिंह को कैबिनेट में जगह
रामचंद्र प्रसाद सिंह फिलहाल जनता दल (यूनाइटेड) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष हैं। उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। वह 2010 से राज्‍यसभा में बिहार का प्रतिनिधित्‍व कर रहे हैं। यूपी कैडर के आईएएस रहे सिंह को बिहार सीएम नीतीश कुमार का बेहद करीबी समझा जाता है।
रामविलास पासवान के भाई भी बने मंत्री
पशुपति कुमार पारस का नाम पिछले दिनों खूब चर्चा में रहा है। भाई रामविलास पासवान के निधन के बाद उनके बेटे चिराग पासवान से पशुपति कुमार की नहीं बन रही। बागी होकर अलग गुट बनाने वाले एलजेपी सांसद पशुपति कुमार पारस को केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। पारस हाजीपुर सीट से सांसद हैं।
संगठन के माहिर खिलाड़ी भूपेंद्र यादव पर मोदी ने जताया भरोसा
भूपेंद्र यादव को कैबनेट मंत्री बनाया गया है। बीजेपी के भीतर अपने सांग‍ठनिक और चुनावी कौशल के लिए मशहूर भूपेंद्र यादव राजस्‍थान से आते हैं। वह 2012 से राज्‍यसभा सांसद हैं। पार्टी में महासचिव की भूमिका निभाने वाले भूपेंद्र यादव को संसद की सिलेक्‍ट कमिटीज का एक्‍सपर्ट माना जाता है। वह राजस्‍थान, गुजरात, झारखंड, उत्‍तर प्रदेश और बिहार के विधानसभा चुनावों में बीजेपी के बेहतर प्रदर्शन के रणनीतिकार समझे जाते हैं।
कैबिनेट मंत्री बने पुरषोत्तम रूपाला
गुजरात से राज्यसभा सांसद रहे पुरुषोत्तम रूपाला को भी प्रमोशन मिला है। कृषि राज्य मंत्री से प्रमोट कर उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया।
आरके सिंह को मिला प्रमोशन
मोदी सरकार में ऊर्जा मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार संभाल रहे आरके सिंह को प्रमोशन मिला है। उन्हें कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली है। आरके सिंह वरिष्ठ नौकरशाह और केंद्रीय गृह सचिव रह चुके हैं।
यूपी में सहयोगियों को साधने की कोशिश
सोनोवाल की तरह उत्‍तर प्रदेश के मिर्जापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल भी पहले केंद्र में मंत्री रह चुकी हैं। वह 2016 से 2019 तक स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री थीं। सोनेलाल पटेल के निधन के बाद ‘अपना दल’ की कमान अनुप्रिया के हाथ में ही है।
हर्षवर्धन की जगह मीनाक्षी लेखी को मौका दिया गया है जबकि लंबे वक्त से RSS से जुड़ी रही हैं शोभा करंदलजे भी मंत्रिमंडल का हिस्‍सा बनाई गई हैं।
इनके अलावा नैनीताल-ऊधम सिंह नगर सीट से सांसद अजय भट्ट, पश्चिम बंगाल के बांकुरा के लोकसभा सांसद शांतनु ठाकुर, कर्नाटक से बीजेपी के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर, ओडिशा के मयूरभंज से बीजेपी सांसद वीरेश्वर टुडू, मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ सांसद डॉ. वीरेंद्र कुमार, पश्चिम बंगाल के बाकुंरा के लोकसभा सांसद सुभाष सरकार, मणिपुर इनर से बीजेपी सांसद राजकुमार सिंह, त्रिपुरा वेस्ट से लोकसभा सांसद प्रतिमा भौमिक, उत्तर प्रदेश के महाराजगंज से बीजेपी सांसद पंकज चौधरी, पश्चिम बंगाल के कूच बिहार से बीजेपी सांसद निशिथ प्रमाणिक, राज्यसभा सांसद और राज्यमंत्री मनसुख मांडविया, गुजरात के सूरत से सांसद महेंद्रभाई मुंजपाड़ा, तमिलनाडु बीजेपी के अध्यक्ष एल मुरुगन को भी मंत्रिमंडल में जगह दी गई है।
इस तरह कुल 43 मंत्रियों ने आज शपथ ली है, जो अब टीम मोदी का हिस्‍सा बन चुके हैं।
-एजेंसियां