अखिलेश और संजय की मुलाकात से सियासी गलियारों में चर्चाएं

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में तमाम पार्टियां सांठगांठ में जुट गई है। इधर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह की मुलाकात ने सियासी गलियारे में चर्चाएं तेज कर दी हैं। अचानक दोनों नेताओं के बीच हुई इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। हालांकि संजय सिंह का कहना है कि यह एक शिष्टाचार मुलाकात थी।
शनिवार को आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे। दोनों के बीच यह मुलाकात सपा के प्रदेश कार्यालय में बने जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट के ऑफिस में हुई।
‘अखिलेश को विश करने आया था’
अखिलेश यादव से मिलकर बाहर आए संजय सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह मुलाकात राजनीतिक नहीं थी। उन्होंने कहा कि 1 जुलाई को अखिलेश का जन्मदिन था और वह उस दिन बहार थे। अखिलेश से मिलकर उन्हे जन्मदिन की बधाई देना चाहते थे लेकिन ऐसा नहीं कर पाए इसलिए शनिवार को उनसे मिलने पहुंचे।
राजनीति चर्चा को लेकर संजय सिंह ने कहा कि वह पहले भी अखिलेश यादव से मिलते रहे हैं। यह मुलाकात कोई राजनीतिक नहीं थी, सिर्फ एक शिष्टाचार भेंट थी। उन्होंने कहा कि वह अखिलेश से शिष्टाचार में मिले।
पंचायत चुनाव को लेकर अखिलेश से हुई चर्चा
संजय सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव की उनके साथ यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर भी चर्चा हुई। उन्होंने कहा यह सोचनीय है कि यूपी की 25 जिला पंचायत अध्यक्ष निर्विरोध चुने गए हैं। यह निश्चित ही यह गलत है।
-एजेंसियां