कोरोना की दूसरी लहर ने आतिथ्य उद्योग को पटरी से उतार दिया: इक्रा

नई दिल्‍ली। रेटिंग एजेंसी इक्रा के अनुसार कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर ने आतिथ्य उद्योग में सुधार को पटरी से उतार दिया और 2023-24 में ही उद्योग के कोविड-पूर्व स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है।
इक्रा ने एक बयान में कहा कि अप्रैल के मध्य से विभिन्न राज्यों द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन या अन्य प्रतिबंधों से उद्योग प्रभावित हुआ है और संक्रमण की आशंका से यात्रा को लेकर सतर्कता बढ़ गई है।
बयान के मुताबिक इसके चलते कोविड-पूर्व स्तर पर पहुचने की समयसीमा पिछले अनुमानों से 6-8 महीने आगे खिसक गई है। उद्योग की आय अब वित्त वर्ष 2023-24 तक ही कोविड-पूर्व स्तर तक पहुंचने की उम्मीद है।
रेटिंग एजेंसी ने कहा कि बीते वित्त वर्ष की तीसरी और चौथी तिमाही में सुधार के बाद चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उद्योग प्रभावित हुआ।
इक्रा के क्षेत्र प्रमुख और सहायक उपाध्यक्ष विनुता एस ने कहा कि ‘कोविड 2.0’ की तीव्रता पहले की तुलना में कहीं अधिक है और इसने उद्योग के सुधार पर एक अस्थायी रोक लगा दी है।
-एजेंसियां