हार के बावजूद ग्रीम स्वान ने की कोहली को कप्तान बनाए रखने की वकालत

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली आलोचकों के निशाने पर हैं।
सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग कोहली को कप्तानी से हटाए जाने की वकालत कर रहे हैं। आईसीसी खिताब नहीं जीत पाने के चलते कोहली को घेरा जा रहा है। इस बीच इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर ग्रीम स्वान इससे अलग राय रखते हैं। स्वान ने WTC फाइनल में भारत की हार के बावजूद कोहली को कप्तान बनाए रखने की वकालत की है।
भारत को WTC फाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों आठ विकेट से हार का सामना करना पड़ा। दो दिन के खेल का नुकसान बारिश के कारण हुआ और मैच का नतीजा रिजर्व डे यानी छठे दिन जाकर निकला। आईसीसी टूर्नामेंट्स में विराट का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा है। भारत को कोहली की कप्तानी में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017, वर्ल्ड कप सेमीफाइनल 2019 में भी हार मिली थी।
स्वान हालांकि कोहली के प्रति इतना कड़ा रवैया नहीं अपनाते। उनका कहना है, ‘विराट कोहली बेशक एक चैंपियन और सुपरस्टार हैं। उन्होंने भारतीय टीम को काफी मजबूत बनाया है। जब भी विकेट गिरता है तो उनके चेहरे पर जोश देखिए। जब कोई मिसफील्ड होती है तब उनके चेहरे के भाव देखिए।’
एक खास बातचीत में उन्होंने कहा, ‘वह अपने काम के प्रति 100 फीसदी समर्पित हैं। इस समय विराट कोहली को कप्तानी से हटाना, जब आपके पास इतना अच्छा कप्तान है, यह क्रिकेट के प्रति अपराध होगा। मुझे नहीं लगता कि उन्हें कहीं और देखने की जरूरत है। भारत मैच इसलिए हारा क्योंकि उनकी तैयारी पूरी नहीं थी।’
कोहली न सिर्फ कप्तानी बल्कि बल्ले से अपने प्रदर्शन को लेकर भी निशाने पर हैं। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल की पहली पारी में उन्होंने 44 रन बनाए वहीं दूसरी पारी में उन्होंने 13 रन का योगदान दिया। दोनों बार उन्हें काइली जैमीसन ने शिकार बनाया। आईसीसी टूर्नमेंट्स के फाइनल की बात करें तो उनका बल्ला शांत ही रहा है। 2017 चैंपियंस ट्रोफी, 2019 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में वह दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाए थे।
-एजेंसियां