ज‍िओ के बाद अब इको फ्रेंडली ऊर्जा बिजनेस करेगी रिलायंस: मुकेश अंबानी

नई द‍िल्‍ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज की 44वीं AGM (Annual general meeting) में चेयरमैन मुकेश अंबानी ने एक और नए कारोबार के श्रीगणेश का ऐलान किया और कहा कि‍ आज मैं तीन चीजें कह रहा हूं। दुनिया के सबसे बड़े एनर्जी मार्केट्स में से एक के तौर पर भारत वैश्विक ऊर्जा जगत में बड़े बदलाव में अग्रणी भूमिका निभाएगा।

कंपनी अब Eco Friendly Green Energy के कारोबार में हाथ आजमाएगी। इस कारोबार पर 3 साल में 60 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। मुकेश अंबानी ने कहा कि 5 साल पहले Jio की शुरुआत हुई थी और अब वक्‍त आ गया है Reliance को वैश्विक कंपनी बनाया जाए। मुकेश ने कहा कि जामनगर में 5000 एकड़ में Dhirubhai Ambani Green Energy Giga Complex पर काम शुरू हो चुका है। यह दुनिया में बड़ी एकीकृत Renewable energy मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट होगी।

दूसरे बड़े ऐलान
मुझे इस बात की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि Google और Jio टीमों ने संयुक्त रूप से मिलकर ब्रेकथ्रू स्मार्टफोन JIOPHONE NEXT का विकास किया है। यह सभी फीचर्स वाला स्मार्टफोन है जो Google और Jio के सभी Applications को सपोर्ट करता है।

कोविड-19 के बावजूद RelianceJio ने ठोस प्रदर्शन का अपना ट्रैक रिकॉर्ड कायम रखा है। चीन के बाहर Reliance Jio किसी भी एक देश में 40 करोड़ से ज्यादा मोबाइल सब्सक्राइबर वाला टेलीकॉम ऑपरेटर बन गया है।

मुकेश अंबानी ने कहा क‍ि हम अपने विरासत वाले कारोबार को टिकाऊ, सर्कुलर और कार्बन मुक्त कारोबार बनाएंगे। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन ने कहा कि रिलायंस न्यू मैटेरियल्स और ग्रीन केमिकल्स के लिए एक विजन भी विकसित कर रहा है। हम अपने हाइड्रोजन और सोलर इकोसिस्टम का समर्थन करने के लिए भारत के पहले विश्व स्तर के कार्बन फाइबर संयंत्र में रणनीतिक निवेश करके इसकी शुरुआत करेंगे।

हम इस इकोसिस्टम को और मजबूती देने के लिए दो अतिरिक्त डिविजन बनाएंगे। इनमें रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एंड कंस्ट्रक्शन डिविजन एवं रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट फाइनेंस डिविजन शामिल हैं।

मुकेश अंबानी ने कहा है कि नई पहलों के साथ रिलायंस गुजरात और भारत को विश्व के सोलर और हाइड्रोजन मैप पर लाकर रख देगा। हमारे सभी उत्पाद गर्व से ”मेड इन इंडिया, बाय इंडिया, फॉर इंडिया एंड फॉर द वर्ल्ड” को प्रोक्लेम करेंगे।

हम इस इकोसिस्टम को और मजबूती देने के लिए दो अतिरिक्त डिविजन बनाएंगे। इनमें रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एंड कंस्ट्रक्शन डिविजन एवं रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट फाइनेंस डिविजन शामिल हैं।

जामनगर में 5000 एकड़ में Dhirubhai Ambani Green Energy Giga Complex पर काम शुरू हो चुका है। यह दुनिया में बड़ी एकीकृत Renewable energy मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट होगी। जामनगर हमेशा रिलायंस के बिजनेस की नींव रहा है और अब नए कारोबार की शुरुआत भी यहीं से हो रही है।
मुकेश ने कहा कि हम 4 Giga फैक्‍ट्री का निर्माण कर रहे हैं जो solar photovoltaic module factory, energy storage battery factory, electrolyser factory, fuel cell factory जैसे जरूरी उपकरण बनाएगी ताकि नई एनर्जी का इकोसिस्‍टम तैयार हो सके। 3 साल में इस कारोबार पर 60 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा।
हम वैल्यू चेन, पार्टनरशिप और फ्यूचर टेक्नोलॉजी के लिए 15,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त निवेश करेंगे। इस तरह न्यू एनर्जी बिजनेस में तीन साल में हमारा कुल निवेश 75,000 करोड़ रुपये हो जाएगा।

नए बिजनेस के लिए विश्वस्तरीय प्रतिभा सबसे महत्वपूर्ण संसाधन होगा। हम लोगों ने पूरी दुनिया के सबसे अच्छी प्रतिभाओं को आकर्षित करना शुरू कर दिया है। हमने दुनिया के कुछ सबसे अधिक प्रतिभाशाली लोगों के साथ रिलायंस न्यू एनर्जी काउंसिल की स्थापना की है।
मुकेश अंबानी ने कहा कि कंपनी ने हमेशा ग्रो करने वाले बिजनेस पर फोकस किया है। रिलायंस अपने ऊर्जा के नए कारोबार को वैश्विक बनाएगी। 2016 में हमने Jio की शुरुआत की थी। अब 2021 में हम नया ऊर्जा कारोबार शुरू कर रहे हैं। यह देश के ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा देने की मुहिम का हिस्‍सा है।

रिलायंस ने गूगल के साथ JioPhone Next का किया विकास, इसे भारत के लिए विकास किया गया है, अंबानी ने दावा किया कि यह बहुत ही किफायती फोन होगा। JioPhone Next 10 सितंबर को गणेश चतुर्थी से उपलब्ध होगा।

– updarpan.com