इमरान द्वारा महिलाओं के कपड़ों को लेकर दिए गए बयान की आलोचना

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान का अमेरिकी न्यूज़ वेबसाइट AXIOS को दिया इंटरव्यू काफ़ी चर्चा में आ गया है.
यह इंटरव्यू पत्रकार जोनाथन स्वैन ने लिया था जो रविवार को एचबीओ मैक्स के डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर प्रसारित हुआ था.
यह इंटरव्यू प्रसारित होने से पहले तभी चर्चा में आ गया था जब इस इंटरव्यू से जुड़ी एक क्लिप वायरल हो गई थी.
इसमें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा था कि पाकिस्तान अफ़ग़ानिस्तान में किसी भी अभियान के लिए अमेरिका को अपनी ज़मीन इस्तेमाल नहीं करने देगा.
लेकिन अब इस इंटरव्यू में इमरान ख़ान की कही गई एक बात काफ़ी चर्चा में है.
समाज में महिलाओं के कपड़ों को लेकर बोले
उनसे इंटरव्यू के दौरान पर्दा और रेप पीड़ितों पर उनके पुराने बयानों को लेकर सफ़ाई मांगी गई तो उन्होंने कहा कि ‘यह सभी बेहूदा बातें हैं मैंने सिर्फ़ पर्दा के विचार पर बात की थी. हमारे यहां न ही डिस्को हैं और न ही यहां नाइट क्लब हैं. यह बिलकुल अलग समाज है जहां पर जीने का अलग तरीक़ा है. अगर आप यहां पर प्रलोभन बढ़ाएंगे और युवाओं को कहीं जाने का मौक़ा नहीं होगा तो इसके कुछ न कुछ परिणाम होंगे. ’
इसके बाद जोनाथन ने इमरान से पूछा कि क्या वो महिलाओं के कपड़े पहनने को लेकर यह बात कर रहे हैं? तो उन्होंने कहा, “अगर यहां पर महिलाएं बहुत छोटे कपड़े पहनती हैं तो इसका असर ज़रूर पुरुषों पर पड़ेगा जब तक कि वो रोबोट न हों.”
जोनाथन ने इमरान खान से पूछा कि क्या वो यह कह रहे हैं कि कपड़े यौन हिंसा को बढ़ावा देते हैं तो इमरान ख़ान ने कहा कि यह इस चीज़ पर निर्भर करता है कि आप किस समाज में रहते हैं, अगर किसी ने किसी चीज़ को नहीं देखा है तो इसका उस पर प्रभाव ज़रूर पड़ेगा.
इमरान ख़ान की पुरानी प्लेबॉय वाली छवि पर भी सवाल
जोनाथन ने इमरान से यह भी पूछ लिया कि जब आप क्रिकेट स्टार थे तो आपकी प्लेबॉय की छवि थी इस पर उन्होंने कहा कि ‘यह मेरी बात नहीं बल्कि मेरे समाज की बात है. मैं अपने समाज के बार में सोचता हूं कि वो कैसे व्यवहार करे जब हम यौन अपराधों के बारे में सुनते हैं तो हम चर्चाएं करते हैं कि इसको कैसे समाप्त करना है.’
पीएम इमरान ख़ान के इस बयान के बाद विपक्षी नेता, पत्रकार और आम लोग सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना कर रहे हैं.
वहीं, डिजिटल मीडिया पर पीएम के प्रमुख सलाहकार डॉक्टर अरसलान ख़ालिद का कहना है कि एक बार फिर इमरान ख़ान के बयान से इतर चुनिंदा संदर्भों पर ही ट्वीट किया जा रहा है.
अरसलान ने कहा कि पीएम इमरान ख़ा ने समाज और वहां रहने वाले लोगों की यौन निराशा पर बात की है.
हालांकि, कुछ महीनों पहले इमरान ख़ान ने पाकिस्तान में यौन हिंसा में बढ़ोत्तरी के लिए अश्लीलता को ज़िम्मेदार ठहराया था.
-BBC