पीएम ने पश्‍चिम बंगाल में कहा, चुनाव में हार निश्चित देख दीदी अब अपने पुराने खेल पर उतर आई हैं

कोलकाता। सिलीगुड़ी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कृष्‍णानगर में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। वह लगातार पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी सरकार पर हमलावार रहे। ममता पर तगड़ा वार करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ‘चुनाव में हार निश्चित देख दीदी अब अपने पुराने खेल पर उतर आई हैं। बंगाल में दीदी और टीएमसी की तरफ से हिंसा की कोशिश की जा रही है। दीदी, संवेदनशीलता की उम्मीद बंगाल अब आपसे छोड़ चुका है।’
भीड़ से मुखातिब मोदी ने कहा कि जनता जनार्दन ईश्वर का ही रूप होती है। जनता के सामने किसी का अहंकार नहीं टिक पाता लेकिन दीदी को ये बात समझ नहीं आती। आज दीदी, चुनाव आयोग को गाली दे रही हैं। आज दीदी, केंद्रीय सुरक्षा बल गाली दे रही हैं। ईवीएम को गाली दे रही हैं। हालत तो ये है कि दीदी आज अपनी पार्टी के ही पोलिंग एजेंट्स को गाली देने लगी हैं। केंद्रीय वाहिनी पूरे देश में चुनाव करवाती है, निष्पक्ष चुनाव करवाती है।
‘टीएमसी पर भाइपो नया खेल खेलने का दांव लगाएगा’
नरेंद्र मोदी ने कहा कि हार तय देखकर ममता दीदी ने बंगाल से बाहर की राजनीति करने का फैसला कर लिया है। बनारस वाली बात ऐसे ही नहीं उछाली गई है। यानि चुनाव के बाद दीदी की एग्जिट होगी और टीएमसी पर भाइपो (ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी) नया खेल खेलने का दांव लगाएगा। ये भी एक खेला है, जो बंगाल के लोगों को समझना होगा। मोदी ने कहा- ‘आदरणीय दीदी, याद रखिए… ये 2021 का बंगाल है। अब आपको लोकतंत्र से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। आप बंगाल के लोगों को डराने की, उनमें भय फैलाने की जितनी कोशिश कर रही हैं, उतने ही ज्यादा लोग आपको हराने के लिए एकजुट हो रहे हैं।’
‘बैसाख की आंधी टीएमसी के गुंडों को भी उड़ा कर ले जाएगी’
पीएम ने कहा कि यहां बीजेपी की डबल इंजन सरकार, बंगाल को नया राजनीतिक वातावरण देगी। सरकार के फैसले सरकार तय करेगी तोलाबाज नहीं। प्रशासन के फैसले प्रशासन लेगा, तोलाबाज नहीं। पुलिस के फैसले, पुलिस करेगी, तोलाबाज नहीं। इस बार बैसाख की आंधी, टीएमसी सरकार और उसके गुंडों को भी उड़ा कर ले जाएगी। जनसभा में मौजूद लोगों से मोदी ने कहा कि बंगाल के नौजवान को दीदी की सरकार ने क्या दिया? बेरोजगारी, बेकारी, डंडे, लाठियां और अपमान। जिस अल्पसंख्यक समाज को दीदी ने बहलाया-फुसलाया, आज वही कटमनी और सिंडिकेट से परेशान है, शिल्प के अभाव में बेकारी से निराश है।
‘बहन-बेटियों के साथ जघन्य अपराध होते रहे, दीदी चुप रहीं’
मोदी यहीं नहीं रुके। उन्‍होंने ममता पर हमला जारी रखा। उन्‍होंने कहा- ‘जिन मुस्लिम बहनों, बेटियों ने दीदी को इतना प्यार दिया, उनके साथ तो दीदी ने बहुत ही बुरा किया। बीजेपी सरकार ने तीन तलाक की प्रताड़ना से मुक्त करने के लिए सख्त कानून बनाया लेकिन दीदी मुस्लिम बहनों के ही विरोध में खड़ी हो गईं बहन-बेटियों के साथ जघन्य अपराध होते रहे, दीदी चुप रहीं।जो सरकारी प्रकल्प बनाए, वो भी किसी को आधे-अधूरे पहुंचे, कटमनी देकर पहुंचे, किसी को आजतक लाभ नहीं मिला, दीदी तब भी चुप थीं।’
पीएम ने इसलिए अपने भाषण की बनारस की बात…
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले नरेंद्र मोदी ने कहा था कि नंदीग्राम में हार सामने देख ममता बनर्जी किसी सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ने का विचार कर रही हैं। इस पर टीएमसी ने पलटवार करते हुए कहा था कि ममता पीएम के संसदीय क्षेत्र बनारस से चुनाव लड़ेंगी, नरेंद्र मोदी इसके लिए तैयारी कर लें। इसी मुद्दे को लेकर नरेंद्र मोदी ने कृष्‍णानगर रैली में बनारस से चुनाव लड़ने वाली बात उठाई है।
-एजेंसियां