सचिन पायलट के नाराज होने की एक बड़ी वजह ये भी…

जयपुर। एसओजी की ओर से पूछताछ के लिए नोटिस जारी होने पर राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट नाराज चल रहे हैं। यहां यह भी देखने वाली बात है कि एसओजी ने पूछताछ के लिए सीएम अशोक गहलोत को भी चिट्ठी भेजी है। धारा 160 के तहत एसओजी ने पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है। एसओजी की ओर से बताया गया है कि मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री से मामले के बारे में विस्तार से पूछा जाएगा ना कि किसी किस्म की पूछताछ होगी।
बताया जा रहा है कि नाराज सचिन पायलट कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ये मिलकर अपना पक्ष रखना चाहते हैं। हालांकि सीएम गहलोत ने कहा है कि पार्टी में मनभेद नहीं मतभेद है।
विधायकों के खरीद फरोख्त मामले की जांच ATS को
राजस्थान में विधायकों की खरीद फरोख्त मामले की जांच आतंकवाद निरोधी दस्ता एटीएस को सौंप दी गई है। इस मामले की जांच एटीएस डीआईजी की मॉनिटिरिंग में होगी। एडिशनल एसपी हरि प्रसाद सोमानी को मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। एटीएस के डिप्टी एसपी मनीष शर्मा, सीआई कामरान खान, सीआई सुनील शर्मा की टीम पूरे मामले की जांच करेगी। एडीजी अशोक राठौड़ ने मामले की जांच एटीएस को सौंपी है।
रविवार सुबह से CMR में पहुंच चुके हैं ये विधायक-मंत्री
राजस्थान में जारी राजनीतिक उठा-पटक पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सीएमआर (सीएम का सरकारी आवास) में लोगों से मिल रहे हैं। रविवार को अब तक मिली सूचना के मुताबिक यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा, मुख्य सचेतक महेश जोशी, मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी, मंत्री प्रमोद जैन भाया, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, मंत्री टीकाराम जूली, मंत्री भंवर सिंह भाटी, मंत्री सालेह माहेम्मद, विधायक राजेंद्र गुढ़ा, विधायक संदीप यादव, विधायक लाखन मीणा, विधायक शकुंतला रावत, विधायक रामलाल जाट, विधायक रफीक खान, विधायक गंगा देवी, भजनलाल जाटव समेत कई और नेता सीएमआर में जाकर सीएम गहलोत से मिल चुके हैं।
-एजेंसियां