आज हम जीवन्ती के पौधे के फायदों के बारे में बात करेंगे, ये छोटी, चिकनी, मीठी, भारी और शीतल प्रकृति की होती है, यह वात, पित्त और कफ को नष्ट करती है, इसके अलावा ये आँखों के रोग तथा पेशाब से सम्बन्धित रोगों, बुखार आदि रोगों को भी दूर करता है
जीवन्ती के फायदे
1- बुखार में
यदि बुखार की अवस्था में जलन हो रही हो तो जीवन्ती के काढ़े में घी मिलाकर पीने से बुखार और जलन में राहत मिलती है।


2- रतौंधी में
रतौंधी रोग में जीवन्ती बेहद फायदेमंद होती है, इस रोग में जीवन्ती की सब्जी बनाकर उसमे घी मिलाकर खाना लाभप्रद होता है।
3- दस्त में
इसके लिए जीवन्ती की सब्जी को देसी घी में भूनकर दही और अनार के साथ खाने से बहुत जल्दी आराम मिलता है।


4- चोट लगने पर
अगर हाथ पैर में चोट लग गयी हो या कट गया हो तो ऐसे में जीवन्ती की पत्तियों को पीसकर इसका लेप घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है।
5- सिर दर्द में
सिर में दर्द होने पर जीवन्ती की पत्ती को पीसकर इसे माथे पर लगायें, इससे सिर का दर्द दूर हो जाता है।

Third party image reference

6- थकान होने पर
यह थकान को दूर करता है, इसके लिए एक तब में पानी भर लें, इसमें 2 चम्मच नमक और 8-10 जीवन्ती के पत्तों को डालकर इसे उबाल लें, फिर गुनगुना रह जाने पर इसमें कुछ देर तक पैर डालकर बैठें, इससे थकान दूर हो जाती है।