भारत के आखिरी गांव चितकुल जितना खूबसूरत दुनिया में और कोई भी गांव नहीं : तस्वीरे

कही घूमने जाने का प्लान है तो भारत में ही इतनी खूबसूरत जगह है कि आप घूमते हुए जन्नत का एहसास जरूर करोगे। वैसे तो भारत में हर तरफ कुदरती नजारे देखने को मिलते हैं। चारों तरफ बर्फ से लदे पहाड़, हरी- भरी घास और नदीयों का नजारा किसी स्वर्ग से कम नहीं। ऐसी जगह दुनिया में सिर्फ भारत में ही देखने को मिलती हैं। भारत-तिब्बत सीमा पर बसा चितकुल (छितकुल) गांव ऐसी ही एक जगह है जहां पर प्रकृति पूरी तरह से मेहरबान है। लगभग 3450 मीटर की ऊंचाई पर बसा ये गांव हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में बस्पा नदी के पास बसा हुआ है। 
भारत के आखिरी गांव चितकà¥à¤² जितना खूबसूरत दà¥à¤¨à¤¿à¤¯à¤¾ में और कोई भी गांव नहीं : तसà¥à¤µà¥€à¤°à¥‡
 
– रक्छम पहाड़
 
रक्छम पहाड बहुत ही ऊचाई पर बसा हुआ है। यहां से हरे-भरे घास के मैदानों से होते हुए छोटी-छोटी जल नदीयां देखने को मिलती है जो बस्पा नदी में मिल जाती हैं।
  
– ट्रैकिंग के लिए खास
 
जो लोग पहाडों पर ट्रैकिंग करने के शौकिंन हैं यह जगह उनके लिए बहुत खास है। दुनिया भर से लोग यहां पर ट्रैकिंग करने के लिए आते हैं।
भारत के आखिरी गांव चितकà¥à¤² जितना खूबसूरत दà¥à¤¨à¤¿à¤¯à¤¾ में और कोई भी गांव नहीं : तसà¥à¤µà¥€à¤°à¥‡
 
– इस गांव में माथी देवी के तीन मंदिर हैं जो पर्यटकों की आकर्षण का केन्द्र बने हुए हैं। 
  
–  इसे किन्नौर जिले का क्राउन भी कहा जाता है। हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से करीब 250 किलोमीटर की दूरी पर बसा यह गांव बहुत ही खूबसूरत है।
  
– हाटू मंदिर
 
पैदल करीब 400 मीटर चलने के बाद नारकंडा हिल स्टेशन पर हाटू पीक है। यह मंदिर लकड़ी से बना हुआ है। लोगों का मानना है कि यह मंदिर रावण की पत्नी मंदोदरी का है।
भारत के आखिरी गांव चितकà¥à¤² जितना खूबसूरत दà¥à¤¨à¤¿à¤¯à¤¾ में और कोई भी गांव नहीं : तसà¥à¤µà¥€à¤°à¥‡
  
– खतरनाक सड़कें
 
इस इलाके में दुनिया की कुछ खतरनाक सड़के हैं जो ड्राइवरों के लिए चुनौती है।
नारकंडा से रामपुर, सराहन, वांगटू, करच्छम, सांगला से होते हुए बहुत से प्राकृतिक नजारे देखने को मिलते हैं।