Article 370 की समीक्षा की जानी चाहिए: राजनाथ सिंह

नई दिल्‍ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का कहना है कि जम्मू-कश्मीर में इस बात की समीक्षा की जानी चाहिए कि Article 370 और 35-ए के कारण कश्मीर को लाभ हुआ है या हानि। एक साक्षात्कार में राजनाथ ने कहा कि कश्मीर एक चुनौती है, लेकिन उसका हल जल्दी निकलेगा।

उनकी यह टिप्पणी इसलिए अहम है क्योंकि भाजपा ने अपने घोषणापत्र में भी Article 370 और 35-ए को खत्म करने का वादा किया है और राजनाथ सिंह ही पार्टी की घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष थे।

मालूम हो कि Article 370 राज्य को विशेष दर्जा प्रदान करता है। वहीं, अनुच्छेद 35-ए राज्य विधानसभा को राज्य के स्थायी नागरिक परिभाषित करने और उन्हें रोजगार समेत अन्य सुविधाएं सुलभ कराने का अधिकार प्रदान करता है।

राज्य विधानसभा चुनाव कराए जाने के समय के बारे में राजनाथ सिंह ने कहा, ‘राज्य में विधानसभा चुनाव कराने के लिए बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की आवश्यकता होती है। लोकसभा चुनावों में अन्य राज्यों में भी सुरक्षा बलों को तैनात करने की जरूरत थी।

अब संसदीय चुनाव खत्म होने की कगार पर हैं इसलिए चुनाव आयोग अब तारीखों पर फैसला कर सकता है।’ जम्मू-कश्मीर में इस समय राष्ट्रपति शासन लागू है और 19 मई को इसे फिर बढ़ाया जाना है।

राजनाथ ने यह बयान ऐसे समय में दिया है, जब भाजपा ने मौजूदा लोकसभा चुनावों के लिए जारी अपने घोषणा-पत्र में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए को खत्म करने का वादा किया है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी चुनाव प्रचार के दौरान बार-बार कहा है कि अपनी पार्टी की सत्ता में वापसी के बाद वह इन प्रावधानों को रद्द कर देंगे। केंद्रीय गृह मंत्री ने यह भी कहा कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराना चुनाव आयोग का विशेषाधिकार है। हालांकि, उन्होंने संकेत दिए कि विधानसभा चुनावों की घोषणा लोकसभा चुनावों के बाद हो सकती है। राजनाथ ने पीटीआई-भाषा को दिए इंटरव्यू के दौरान यह बात कही। दरअसल, उनसे पूछा गया था कि क्या भाजपा को लगता है कि संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म कर देने से कश्मीर मुद्दे के समाधान में मदद मिलेगी।

भाजपा की घोषणा-पत्र समिति के अध्यक्ष रहे राजनाथ ने कहा, ”कश्मीर एक चुनौती है, लेकिन उसका हल जल्द निकलेगा।” गृह मंत्री से जब पर पूछा गया कि क्या अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-ए को खत्म करना कोई समाधान है, इस पर उन्होंने कहा, ”मुझे यह लगता है कि इसकी समीक्षा की जानी चाहिए कि धारा 370 या 35-ए के कारण कश्मीर को लाभ हुआ है, या हानि।” पिछले दिनों भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी बयान दिया था कि भाजपा अनुच्छेद 370 खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है।

-एजेंसी

The post Article 370 की समीक्षा की जानी चाहिए: राजनाथ सिंह appeared first on updarpan.com.