जाने गिलोय के गुणकारी फायदे

दोस्तों आइए जानते हैं गिलोय के चमत्कारिक फायदों के बारे में गिलोय या गुडूची एवं गुरबेल के नाम से जाना जाता है एक बहुत ही महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक हर्ब है ।

यह हर्ब बहुत ही आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने के काम आती है जैसे कि गिलोय घनवटी । इस बूटी में अपने औषधीय गुण तो होते ही है साथ ही यह जिस वृक्ष पर उगती है उस वृक्ष के गुण भी इसमें आ जाते हैं ।

गिलोय के औषधीय गुण :-

गिलोय में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं जैसे कि खून साफ करना ,एंटी एंटीबैक्टीरियल गुण, एव एंटीवायरल गुण , बुखार कम करना, एंटी एलर्जी ,एंटीआक्सीडेंट पाचन करने वाले गुण, मानसिक तनाव ,और चिंता दूर करने वाले गुण, भूख बढ़ाने वाले गुण ।

शुगर कम करने वाले एंटी इंफ्लेमेटरी स्कूलिंग पेट के कीड़े नष्ट करने वाले गुण , एंटी आर्थराइटिस इम्यून सिस्टम अच्छा करने वाले गुण ,एंड एसिडिक , ट्यूमर बुखार दूर करने वाले गुण, पेट का दर्द और दूसरे पेट से संबंधित रोग ठीक करने वाले गुण , इसके अलावा बहुत से अनेक गुण भी गिलोय में पाए जाते है ।

गिलोय के प्रचलित नाम इस प्रकार है भारत के अलग-अलग राज्यों में गिलोय को अलग-अलग नामों से जाना पता है जैसे कि अमृता, गुडूची, चकरंगी, गुलानचा आदि नामों से जाना जाता है । लेकिन उत्तर भारत में ज्यादातर लोग इसे गिलोय के नाम से ही जानते हैं ।

इसीलिए इस आर्टिकल में हम इसको गिलोय के नाम से ही इसका प्रयोग करेंगे आइए जानते हैं कि गिलोय किन रोगों में प्रभावकारी होती है यदि रोगों की बात की जाए तो इसका उल्लेख करना थोड़ा सा मुश्किल होगा अर्थात यह बहुत से रोगों में प्रभावकारी ढंग से फायदेमंद है ।

दुर्बलता, हाई ब्लड प्रेशर ,नपुंसकता और बांझपन मासिक चक्र संबंधी परेशानियां, नकसीर फूटना, ,कैंसर ,HIV, डायबिटीज ,यूटीआई ,उल्टी ,TV ,अनिद्रा ,त्वचा और पेट संबंधी रोग ,पथरी ,शारीरिक दुर्बलता ,ब्रेन ट्यूमर ,माइग्रेन, मलेरिया, गठिया, गुप्त रोग आदि में गिलोय का प्रयोग किया जाता है ।

जैसा कि हमने पहले भी बताया कि गिलोय में कमाल के औषधीय गुण पाए जाते हैं इसीलिए इस बूटी को कई प्रकार की बीमारियों को ठीक करने में उपयोग किया जाता है गिलोय में एंटीपायटिक गुण भी पाए जाते हैं ।

इसीलिए इस हर्ब को बुखार कम करने वाली दवाइयों में अधिकतर तौर पर मिलाया जाता है । गिलोय हमारे इम्यून सिस्टम को दुरुस्त करती है जिससे हम सभी बीमारियों से दूर रहते हैं । दोस्तों अंत में हम ईश्वर से यही प्रार्थना करते हैं कि आप हमेशा हेल्दी एवं खुश रहें ।