कहीं आपका घर भी तो नहीं है सीलन का शिकार, खतरे में है आपका परिवार!

आम तौर पर लोग घर की दिवारों पर सीलन को देखने के बाद भी नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन आज इस सीलन को लेकर कुछ ऐसी बाते बता रहे हैं, जिसे जानने के बाद शायद आप इस नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। दिवारों पर सीलन नावे घर में रहने वाले परिवार हर कदम अपनी मौत की ओर बढ़ रहे हैं। इस तरह के घरों में रहने वाले लोगो कते उपर ऐसी बीमारी का खतरा बना रहता है जो जान जाने के बाद ही जाती है।

आपको बता दें कि घर में किसी भी रूप में मौजूद सीलन स्वास सम्बंधी गंभीर रोगों के लिए बेहद ही खतरनाक साबित हो सकता है। सीलन वारे घर में रहने वाले लोगों के उपर अस्थमा जैसी स्वास सम्बंधी गम्भीर बीमारी का खतरना बना होता है, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह जान के साथ ही शरीर से जाती है।

ऐसे में आज आपको बता रहे हैं कि आखिर दिवारों पर सीलन क्यों लगती है, और इससे कैसे बचा जा सकता है। इससे पहले आपको बता दें कि आप अपने जिंदगी भर की कमाई अपना घर बनाने में लगा देते हैं, ताकि आप आपने परिवार के साथ सुख-चैन की जिंदगी बिता सके। लेकिन घर बनाने के दौरान लाखों रूपये खर्च करने के बाद भी जाने अंजाने में कुछ जरूर बाते भूल जाते हैं या भूला देते हैं है, जो आपके लिए बड़ी परेशानी बन सकता है।

दरअसल, ये सीलन की परेशानी भी आपके उन्हीं परेशानियों में से एक हैं। आपको बता दें कि आपके घर का जो भी हिस्सा पानी के संपर्क में आता है, उसमें सीलन का खतना बना रहता है, जैसे घर का बाहरी हिस्सा, फर्स, बाथरुम, किचन व अन्य स्थानों पर सीलन हो सकती है। इससे बचने के लिए आपको घर बनाने के दौरान वॉटरप्रूफिंग कराना चाहिए। वॉटरप्रूफिंग कराने के बाद आपका घर सीलन की परेशानी दूर रहता है।