होलिका दहन के दिन जरूर ध्यान देनी चाहिए ये बाते

ज्योतिष और शास्त्रों के अनुसार होलिका दहन की रात्रि तंत्र साधना के लिए उपयुक्त मानी जाती है.. इसलिए होलिका दहन की रात्रि को भाग्य को जगाने वाली रात के रूप में जाना जाता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस रात में साधना करने से उसका फल शीघ्र मिल जाता है। ऐसे में बहुत से लोग इस दिन तंत्र साधनाए और सिद्धी प्राप्ति के लिए कर्म काण्ड करते है .. ऐसे में घरती पर उस दिन तांत्रिक क्रियाओं का प्रभाव रहता है ।इसलिए इस दिन दूसरे लोगों के इस तरह के तंत्र साधनाओं के प्रभाव से बचना चाहिए। ऐसे में आज हम आपको ऐसी कुछ बाते बता रहे हैं जिसका ध्यान रखकर तांत्रिक क्रियाओं के प्रभाव से बचा जा सकता है।
गर्भवती महिलाएं रखें विशेष ध्यान
इस दिन गर्भवती महिलाओं को विशेष तौर पर सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि इन पर तंत्र-मंत्र का असर बहुत जल्दी होता है .. ऐसे में इस दिन गर्भवती महिलाओं को कहीं बाहर नहीं निकलना चाहिए और ना किसी का दिया कुछ खाना पीना चाहिए।
सफेद रंग की चीज का सेवन ना करें
दरअसल होलिका दहन वाले दिन टोने- टोटके के लिए सफेद चीज का उपयोग ज्यादा किया जाता है.. ऐसे में इस दिन भूलकर भी सफेद रंग की चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।
सिर ढ़ककर ही बाहर निकले
होलिका दहन के दिन में घर से बाहर निकलते समय अपने सिर को ढककर रखें क्योंकि अक्सर इस दिन किए गए जादू टोने का का असर आपके सिर और मस्तिष्क पर पड़ सकता है ।
अपने कपड़ों का ध्यान रखें
होलिका दहन के दिन अपने कपड़े या उसका का कोई भी हिस्सा इधर-उधर न फेंकें.. क्योंकि इस दिन किसी इंसान पर जादू टोटके का प्रभाव डालने के लिए उसके कपड़े का प्रयोग तंत्र-मंत्र के लिए किया जाता है । ऐसे में इस दिन अपने कपड़े को बाहर या खुली जगह पर ना छोड़े।
अंजान चीजों से दूर रहे
होलिका दहन के दिन अंजान चीजों से दूर रहना चाहिए और भूलकर भी किसी अनजानी चीज को हाथ नहीं लगाना चाहिए.. क्योंकि इससे आपके ऊपर जादू या टोटक का असर हो सकता है।
इसके साथ ही शास्त्रों के अनुसार होलिका दहन के पांच दिन पहले और पांच दिन बाद तक कोई शुभ या मांगलिक कार्य नहीं करना चाहिए
ऑनलाइन आवेदन करने के लिए लिए यहाँ क्लिक करे