पुलिस से बचने के लिए राज कुंद्रा ने अपनाया था ये तरीका, जो काम नहीं आया

मुंबई। बॉलीवुड एक्‍ट्रेस श‍िल्‍पा शेट्टी के पति और बिजनसमैन राज कुंद्रा पोर्नोग्राफी केस में बुरी तरह फंसते जा रहे हैं। उनके ख‍िलाफ पुलिस ने कई पुख्‍ता सबूत इकट्ठा किए हैं, जिनमें उनके वॉट्सऐप चैट्स भी शामिल हैं। अभी तक की पुलिस जांच में यह साफ हो गया है कि रिपु सूदन बालकृष्‍ण कुंद्रा यानी राज कुंद्रा पॉर्न फिल्‍म बनाने, उन्‍हें बेचने और प्रसारण का काम कर रहे थे लेकिन जांच में पुलिस को यह भी पता चला है कि राज को इस बात की भनक लग गई थी कि उन पर कार्यवाही हो सकती है। ऐसे में उन्‍होंने इससे बचने का तरीका भी अपनाया था। राज कुंद्रा को सोमवार को मुंबई क्राइम ब्रांच ने अरेस्‍ट किया, जिसके बाद मंगलवार को कोर्ट ने उन्‍हें 23 जुलाई तक के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया।
ब्रिटेन में रिश्‍तेदार की कंपनी को बेच दी ऐप
मंगलवार को किला कोर्ट के आदेश के बाद मुंबई पुलिस ने बताया कि 45 साल के राज कुंद्रा ने अपने ऐप ‘हॉटशॉट्स’ को ब्रिटेन की कंपनी केनरिन प्राइवेट लिमिटेड को बेच दी थी। दिलचस्‍प बात यह है कि यह कंपनी राज के रिश्‍तेदार प्रदीप बख्‍शी की है, जो इस गोरखधंधे में उनके पार्टनर भी हैं। केनरिन प्राइवेट लिमिटेड, लंदन की कंपनी है जबकि ‘हॉटशॉट्स’ को बेचने के बाद भी राज कुंद्रा उसका सारा कारोबार मुंबई से ही डील कर रहे थे।
पुलिस ने अब तक 11 लोगों को किया है गिरफ्तार
पोर्नोग्राफी केस में मुंबई पुलिस ने अभी तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से राज कुंद्रा और उनके आईटी हेड रायन थार्प को पुलिस ने ही गिरफ्तार किया है। इस केस में सबसे पहले फरवरी महीने में 5 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी। इन 5 लोगों को मड आईलैंड के एक बंगले में पॉर्न फिल्‍म की शूटिंग करते हुए गिरफ्तार किया गया था।
18 लाख रुपये में हुई थी ‘हॉटशॉट्स’ ऐप की डील
पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि राज कुंद्रा ‘हॉटशॉट्स’ ऐप के जरिए पॉर्न फिल्‍मों और वीडियोज की स्‍ट्रीमिंग में शामिल थे। इस ऐप को मोबाइल प्‍लेटफॉर्म्‍स से हटा लिया गया है। राज कुंद्रा ने पॉर्न कॉन्‍टेंट को अपने दफ्तर विआन इंडस्‍ट्रीज के जरिए ब्रिटेन में सप्‍लाई किया। कुंद्रा ने पुलिस को यह भी बताया कि उन्‍होंने 2019 में 25, 000 डॉलर यानी करीब 18 लाख रुपये में यह ऐप बेचा था।
पुलिस ने कहा, हमारे पास सबूत हैं
पुलिस ने आगे यह भी बताया कि उनके पास राज कुंद्रा के ख‍िलाफ सबूत हैं। उन्हें राज कुंद्रा के दफ्तर से कई क्लिप मिले हैं। दूसरी ओर राज कुंद्रा के वकीलों अबद पोंडा और सुभाष जाधव ने आरोप लगाया कि उनके मुवक्‍क‍िल की गिरफ्तारी अवैध थी क्योंकि पुलिस ने आपराधिक प्रक्रिया संहिता के तहत प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया।
-एजेंसियां