अमेरिका ने भारतीय नौसेना को सौंपे पहले दो MH-60 R मल्टी रोल हेलीकॉप्टर

नई दिल्‍ली। रूस के बाद भारत-अमेरिका रक्षा साझेदारी भी लगातार मजबूत हो रही है। इस क्रम में अमेरिकी नौसेना ने पहले दो MH-60 R मल्टी रोल हेलीकॉप्टर भारतीय नौसेना को सौंपे। सैन डिएगो के नेवी एयर स्टेशन नॉर्थ आइलैंड में शुक्रवार को अमेरिकी नौसेना से इंडियन नेवी को औपचारिक तौर पर हेलीकॉप्टर सौंपे।
इंडियन नेवी ने अमेरिकी सरकार से विदेशी सैन्य बिक्री के तहत लॉकहीड मार्टिन की तरफ से निर्मित ये 24 हेलीकॉप्टर खरीद रही है। भारत सरकार ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ऐतिहासिक यात्रा से हफ्तों पहले फरवरी 2020 में हेलीकॉप्टरों की खरीद को मंजूरी दी थी। इन हेलीकॉप्टर्स की अनुमानित कीमत 2.4 अरब डॉलर है।
267 किमी/घंटा है स्पीड, 10,659 किलोग्राम ले सकता है वजन
MH-60R हेलीकॉप्टर की अधिकतम स्पीड और क्रूज स्पीड क्रमशः 267 किमी/घंटा और 168 किमी/घंटा है। इसकी रेंज 834 किमी है। ये हेलीकॉप्टर 8.38m/s की ऊपर की तरफ बढ़ सकता है। हेलीकॉप्टर का वजन लगभग 6,895 किलोग्राम है और इसका अधिकतम वजन 10,659 किलोग्राम है। इस हेलीकॉप्टर्स की उपयोगिता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अमेरिका के अलावा ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया, डेनमार्क, सऊदी अरब के पास भी ये हेलीकॉप्टर्स मौजूद हैं।
किसी भी मौसम में कर सकता है काम
एमएच-60आर हेलीकॉप्टर सभी मौसमों में काम करने वाला हेलीकॉप्टर है। इसे विमानन की नयी तकनीकों के साथ कई मिशनों में सहयोग देने के लिए डिजाइन किया गया है। इन एमआरएच के शामिल होने से भारतीय नौसेना की थ्री डायमेंशनल क्षमताएं बढ़ेंगी। हेलीकॉप्टरों को कई विशिष्ट उपकरण तथा हथियारों से भी लैस किया जाएगा।
अमेरिका में ट्रेनिंग ले रहा है भारतीय दल
भारतीय चालक दल का पहला बैच अभी अमेरिका में ट्रेनिंग ले रहा है। इन हेलीकॉप्टर्स के नेवी के बेडे़ में शामिल होने से देश की सतह-रोधी और पनडुब्बी रोधी युद्धक अभियानों की क्षमताएं बढ़ेंगी। भारत इन क्षमताओं का इस्तेमाल क्षेत्रीय खतरों से निपटने और अपने देश की रक्षा को मजबूत करने के तौर पर करेगा।
भारत-अमेरिका रक्षा संबंधों में महत्वपूर्ण कदम
अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत संधू ने कहा कि सभी मौसमों में काम करने वाले मल्टी रोल हेलीकॉप्टरों का बेड़े में शामिल होना भारत-अमेरिका द्विपक्षीय रक्षा संबंधों में महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने ट्वीट किया कि भारत-अमेरिका की दोस्ती नयी ऊंचाइयां छू रही है। उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय रक्षा व्यापार पिछले कुछ वर्षों में 20 अरब डॉलर से अधिक तक बढ़ गया है। रक्षा व्यापार के अलावा भारत और अमेरिका रक्षा मंचों के सह-विकास पर भी साथ मिलकर काम कर रहे हैं।
-एजेंसियां