ED द्वारा अनिल देशमुख की 4.20 करोड़ रुपए मूल्य की संपत्ति जब्‍त

मुंबई। भ्रष्टाचार के मामले में घिरे महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर प्रवर्तन निदेशालय का शिकंजा कसता जा रहा है। ED ने अब अनिल देशमुख और उनके परिवार से जुड़ी करीब 4.20 करोड़ रुपए मूल्य की संपत्ति को जब्त किया है। जिन संपत्तियों को जब्त किया गया है उनमें एक रिहायशी फ्लैट है जिसकी कीमत 1.54 करोड़ है। यह फ्लैट वर्ली में स्थित है। वहीं रायगढ़ में भी उनकी एक 2.67 करोड़ रुपये की जमीन को कुर्क कर लिया गया है। ईडी की तरफ से ये कार्यवाही IPC की धारा 120-B, 1860 और PM अधिनियम 1988 की धारा 7 के तहत की गई है। देशमुख पर आरोप है कि उन्होंने बड़े पद पर रहते हुए गलत तरीके से लाभ उठाने की कोशिश की है।
प्रवर्तन निदेशालय द्वारा 3 बार समन भेजे जाने के बावजूद भी 72 साल के अनिल देशमुख अब तक जांच एजेंसी के सामने हाजिर नहीं हुए हैं। इतना ही नहीं, केंद्रीय एजेंसी ने अनिल देशमुख के बेटे ऋषिकेश और पत्नी को भी समन भेजा था लेकिन उन्होंने भी अपना बयान दर्ज नहीं कराया है। ये समन महाराष्ट्र पुलिस से संबंधित 100 करोड़ रुपये के कथित घूस-सह-वसूली मामले के संबंध में पीएमएलए के तहत दर्ज मामले के सिलसिले में जारी किए गए थे। इसी मामले के चलते देशमुख को इस साल अप्रैल में अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।
देशमुख के वकील कमलेश घुमरे ने हाल ही में कहा था कि अनिल देशमुख मानते हैं कि उनके खिलाफ ईडी की जांच न्यायसंगत नहीं है इसलिए वह ईडी के सामने उपस्थित नहीं हो रहे हैं। घुमरे ने बुधवार को कहा कि ‘जहां तक मेरी जानकारी है, आरती देशमुख एक घरेलू महिला हैं। उनका इस मामले से कोई मतलब नहीं है। बता दें कि इस साल की शुरुआत में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह की शिकायत पर सीबीआई और ईडी ने देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में मामला दर्ज किया था। सिंह ने अपनी शिकायत में देशमुख पर कम से कम 100 करोड़ रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगाया था।
-एजेंसियां