सिद्धू की संभावित ताजपोशी से कैप्‍टन नाराज, नेतृत्‍व में चुनाव लड़ने से किया इंकार

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी के लिए पंजाब की कलह खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नवजोत सिंह सिद्धू का पंजाब कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बनने की संभावना मजबूत होते देख पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शीर्ष नेतृत्व से नाराजगी जताती है।
सूत्रों के अनुसार कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को साफ कह दिया है कि सिद्धू अगर प्रदेश अध्यक्ष बनते हैं तो वे उनके नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ेंगे।
हालांकि कांग्रेस पार्टी की तरफ से सिद्धू को पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन सूत्रों का कहना है कि सिद्धू ने पंजाब में अपने समर्थकों से कह दिया है कि वे अध्यक्ष बनने जा रहे हैं।
वहीं कांग्रेस पार्टी के सूत्रों का कहना है कि पंजाब में तमाम बड़े नेता जो कई वर्षों से कांग्रेस पार्टी के साथ हैं, वे भी सिद्धू को अध्यक्ष बनाए जाने पर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से नाराज हो सकते हैं और शीर्ष नेतृत्व अगर उनकी बात नहीं मानता तो पंजाब में पार्टी टूट भी सकती है।
पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं और विधानसभा चुनाव से पहले अगर सिद्धू की अध्यक्ष पद पर नियुक्ति होती है तो वह अपने समर्थकों को विधानसभा चुनाव लड़ने का टिकट दिलाने में कामयाब हो सकते हैं। फिलहाल मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के करीबी सुनील जाखड़ पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हैं।
सिद्धू ने लंबे समय से मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है और कैप्टन सरकार की तरफ से दिया गया ऊर्जा मंत्रालय भी उन्होंने स्वीकार नहीं किया था। सिद्धू ने हाल ही में एक ट्वीट किया था जिसमें लिखा था कि आम आदमी पार्टी ने पंजाब को लेकर सिद्धू के विजन का हमेशा मान रखा है। ऐसा माना जा रहा था कि सिद्धू ने कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर दबाव डालने के लिए वह ट्वीट किया था।
-एजेंसियां