बॉडीगार्ड की मौत के मामले में CID ने दी शुभेंदु के घर दबिश

पश्चिम बंगाल में भाजपा और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच चुनाव के पहले से जारी तनातनी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। राज्य में मुख्य विपक्षी दल भाजपा के विधायक दल के नेता और नंदीग्राम से ममता बनर्जी को हराने वाले शुभेंदु अधिकारी की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं।
दरअसल, बॉडीगार्ड की मौत के मामले में बुधवार को CID की टीम ने शुभेंदु के घर दबिश दी। बंगाल CID की स्पेशल टीम शुभेंदु अधिकारी के घर पर उनके पूर्व सुरक्षा गार्ड शुभव्रत चक्रवर्ती के संदिग्ध मौत के मामले में जांच करने पहुंची।
राज्य CID की 3 सदस्यीय टीम शुभेंदु के घर (कान्थी के राजा की कोठी के रूप में प्रसिद्ध) शांतिकुंज निवास पहुंची और उनके परिवार के सदस्यों से पूछताछ की। हालांकि इस दौरान शुभेंदु मौजूद नहीं थे। जांच टीम ने शुभेंदु के भाई और सांसद दिव्येंदु अधिकारी से पूछताछ की। साथ ही उनके घर पर तैनात सेंट्रल फोर्स की बैरक में भी जाकर जानकारी ली।
सुरक्षाकर्मी शुभ्रवत की पत्नी सुपर्णा कांजीलाल चक्रवर्ती ने मेदिनीपुर जिले के काफी थाने में अपने पति की रहस्यमयी मौत की जांच की मांग को लेकर FIR करवाई थी। बंगाल पुलिस ने मामले की जांच CID के हवाले कर दी थी। CID की टीम दोपहर 3 बजे के आसपास शुभेंदु के घर पहुंची। चर्चा है कि ममता ने राजनीतिक प्रतिशोध के चलते शुभेंदु के पीछे CID को लगाया है।
इस बीच भाजपा विधायक शुभेंदु अधिकारी ने आरोप लगाया कि नंदीग्राम में विधानसभा चुनाव में हारने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तिलमिलाई हुई हैं। वे बदले की भावना में सालों पुराने झूठे मामले में उन्हें आरोपी बनाकर परेशान करने की कोशिश कर रही हैं।
-एजेंसियां