लखनऊ: दोनों आतंकियों को कोर्ट ने 14 दिन के लिए पुलिस रिमांड पर दिया

लखनऊ से गिरफ्तार हुए अलकायदा समर्थित आतंकी सगंठन के दो संदिग्धों को लखनऊ कोर्ट में पेश किया गया। दोनों संदिग्ध मिनहाज अहमद और मसरूद्दीन को लखनऊ की एडीजे कोर्ट में पेश कर एटीएस ने रिमांड की मांग की। कोर्ट ने दोनों संदिग्‍धों को 14 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। रिमांड मिलने के बाद एटीएस इनसे और कड़ी पूछताछ करेगी।
सोमवार दोपहर दोनों संदिग्धों को लखनऊ की एडीजे 3 कोर्ट में पेश किया गया। रिमांड मिलने के बाद एटीएस के पास सहूलियत रहेगी और अगर वह चाहेगी तो आरोपियों को लखनऊ से बाहर ले जाकर भी पूछताछ कर सकती है। इससे पहले अपर गृह सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि दोनों संदिग्धों की फोन चैट से सामने आया है कि वे क्रॉस बॉर्डर संपर्क में थे।
ठीक नहीं थे संदिग्धों के मंसूबे
एडीजी (लॉ ऐंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने बताया, ‘सूचनाएं मिलने के बाद उस पर स्टडी की गई और मॉड्यूल को ध्वस्त किया गया। पकड़े गए संदिग्धों के मंसूबे सही नहीं थे। जिस तरह की चीजें मिली हैं उनका पोंटेशल इतना है कि किसी महत्वपूर्ण जगह पर ब्लास्ट हो जाता तो कई जानें जा सकती थीं। उस लिहाज से पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है।
संदिग्धों के पास से कई नक्शे बरामद!
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एटीएस ने आतंकियों के पास यूपी के कई शहरों के नक्शे बरामद किए हैं। इसमें अयोध्या के राम मंदिर के आसपास के नक्शे भी बरामद हुए हैं। इससे आशंका जताई जा रही है कि आतंकियों के निशाने पर अयोध्या समेत यूपी के कई बड़े शहर थे। पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ है कि आतंकी मानव बम बनकर हमला करने की फिराक में थे।
-एजेंसियां