हैती की पुलिस ने कहा, विदेशी हमलावरों ने की राष्ट्रपति की हत्‍या

हैती की पुलिस ने कहा है कि राष्ट्रपति जोवेनेल मोइज़ की हत्या विदेशी हमलावरों के एक दस्ते ने की जिनमें ज़्यादातर कोलंबिया के पूर्व सैनिक थे.
पुलिस प्रमुख लियोन चार्ल्स ने कहा है कि इस दस्ते में 26 कोलंबियाई और हैती मूल के दो अमेरिकी हमलावर शामिल हैं.
आठ संदिग्ध अब भी फ़रार हैं जबकि दो अमेरिकियों समेत 17 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.
बाकी संदिग्धों को पुलिस ने राजधानी पोर्ट ओ प्रिंस में मुठभेड़ में मार गिराया था.
गुरुवार को हैती पुलिस ने कुछ संदिग्धों को मीडिया के सामने पेश किया. उनके सामने हथियार, कोलंबियाई पासपोर्ट और अन्य सबूत रखे थे.
पुलिस प्रमुख ने कहा, “राष्ट्रपति को मारने के लिए विदेशी हमारे देश में आए.”
कोलंबिया सरकार ने कहा है कि इस कथित दस्ते के कम-से-कम छह सदस्य उनकी सेना के रिटायर्ड सैनिक लग रहे हैं. उसने कहा है कि वो जाँच में हैती का पूरा सहयोग करेगा.
अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अब तक अपने किसी नागरिक के हिरासत में होने की पुष्टि नहीं की है.
इस सप्ताह बुधवार सुबह कुछ बंदूकधारी राष्ट्रपति मोइज़ के आवास में घुसे और गोलियाँ चलानी शुरू कर दीं.
राष्ट्रपति मोइज़ की मौत हो गई जबकि उनकी पत्नी मार्टिन घायल हो गईं. उन्हें इलाज के लिए अमेरिका के फ़्लोरिडा राज्य ले जाया गया है, जहां उनकी स्थिति स्थिर बताई जा रही है.
हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि हमले की योजना किसने बनाई या इसके पीछे क्या मक़सद था.
हालाँकि हैती के अंतरिम प्रधानमंत्री क्लॉड जोसेफ़ ने बीबीसी को बताया कि राष्ट्रपति को निशाना बनाने की एक वजह ये हो सकती है कि वो देश पर प्रभाव रखने वाले ‘कुछ बड़े वर्गों’ से लड़ रहे थे.
-एजेंसियां