राष्‍ट्रपति से मिले TMC सांसद, सॉलिसिटर जनरल को पद से हटाने की मांग

तृणमूल कांग्रेस TMC का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार दोपहर को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलाकात कर तुषार मेहता को भारत के सॉलिसिटर जनरल के पद से हटाने की मांग की। मुलाकात के बाद टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा कि हमने अभी हाल ही में राष्ट्रपति से मुलाकात की है। हमने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता के ऑफिस से संबंधित बड़ी अनीति के मामले में उन्हें एक ज्ञापन सौंपा है।
तुषार मेहता के तत्काल इस्तीफे की मांग
मोइत्रा ने कहा कि हम घोर कदाचार और अनीति के आधार पर एसजी के तत्काल इस्तीफे की मांग करते हैं। टीएमसी सांसद ने कहा कि 1 जुलाई को पश्चिम बंगाल विधानसभा में एक भाजपा नेता, विधायक और विपक्ष के नेता ने गृह मंत्री से उनके आवास पर मुलाकात की। इसके उसके तुरंत बाद वे लोग 10 अकबर रोड पर सॉलिसिटर-जनरल तुषार मेहता के घर गए।
सुवेंदु को एसजी के घर में प्रवेश करने की अनुमति किसने दी?
इस मामले में टीएमसी के एक अन्य सांसद सुखेंदु शेखर राय ने कहा कि वह (सॉलिसिटर जनरल) उनसे (सुवेंदु अधिकारी) नहीं मिल पाने के लिए माफी मांग रहे हैं। उसे (सुवेंदु अधिकारी को) एसजी के आवास में प्रवेश करने की अनुमति किसने दी? एसजी ने बार काउंसिल के नियमों, पेशेवर नैतिकता का उल्लंघन किया है। हम इसे हितों का टकराव भी मानते हैं।
पीएम मोदी को लिखा था पत्र
इससे पहले तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने पश्चिम बंगाल में भाजपा के नेता शुभेंदु अधिकारी से मुलाकात को लेकर सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता को हटाने की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा था। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में पार्टी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन और महुआ मोइत्रा ने आरोप लगाया था कि मेहता और अधिकारी के बीच बैठक न केवल अनुचित है, बल्कि हितों का सीधा टकराव है। साथ ही देश के दूसरे सर्वोच्च कानून अधिकारी सॉलिसिटर जनरल के पद की गरिमा को भी कमतर करती है।
नारद मामले में आरोपी हैं सुवेंदु अधिकारी
पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी 2016 के नारद टेप मामले में आरोपी हैं। सीबीआई इस पूरे मामले की जांच कर रही है। तुषार मेहता सुप्रीम कोर्ट और कलकत्ता हाईकोर्ट में इस मामले में केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का पक्ष रखते हैं।
-एजेंसियां