आज ED के सामने पेश नहीं हुए अनिल देशमुख, समय मांगा

मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय ED ने मनी लॉन्ड्रिंग के केस में पूछताछ के लिए महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को शनिवार को पेश होने का समन जारी किया था। लेकिन देशमुख ईडी के दफ्तर नहीं पहुंचे और वकीलों के जरिए किसी अन्य दिन पेश होने का समय मांगा है। 100 करोड़ रुपए की रिश्वत के आरोपों से जुड़े धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए देशमुख को बुलाया गया था।
प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ के सिलसिले में देशमुख के वकील जयवंत पाटिल ने बताया, ‘हमने प्रवर्तन निदेशायल को एप्लिकेशन देकर उन दस्तावेजों को तैयार करने की मांग की है जिसके आधार पर सवाल किया जाना है। जांच की आधार के बारे में हमें कोई भी जानकारी नहीं है इसलिए हम पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हो सकते हैं। अब ईडी को इस पर फैसला लेना होगा।’
इससे पहले मनी लॉन्ड्रिंग केस में अनिल देशमुख को समन जारी करके उनसे शनिवार को जांच एजेंसी के समक्ष पेश होने को कहा। अधिकारियों के अनुसार एनसीपी नेता को यहां बलार्ड एस्टेट इलाके में ईडी कार्यालय में मामले के जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने का आदेश जारी किया था। समन को धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत जारी किया गया और देशमुख को दिन में 11 बजे तक पेश होने का समय दिया गया था।
केंद्रीय एजेंसी ने देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को शुक्रवार रात गिरफ्तार किया था। इससे पहले ईडी ने मुंबई और नागपुर में देशमुख, पलांडे और शिंदे के परिसरों पर छापे मारे थे। छापेमारी के बाद पलांडे और शिंदे को ईडी कार्यालय लाया गया। अधिकारियों ने बताया कि दोनों को शनिवार को मुंबई में विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया जाएगा, जहां ईडी उनसे पूछताछ के लिए उनकी हिरासत का अनुरोध करेगी।
सीबीआई ने बंबई उच्च न्यायालय के आदेश पर एक नियमित मामला दर्ज करने के बाद प्रारंभिक जांच शुरू की थी, जिसके बाद देशमुख एवं अन्य के खिलाफ ईडी ने मामला दर्ज किया।
-एजेंसियां