अब माइक्रोसॉफ्ट भी बनी 2 लाख करोड़ डॉलर क्लब का हिस्सा

अमेरिकी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट 2 लाख करोड़ डॉलर क्लब का हिस्सा बन गई है। यह उपलब्धि हासिल करने वाली यह दूसरी अमेरिकी कंपनी है। इससे पहले एपल (Apple) दो लाख करोड़ डॉलर वैल्यूएशन वाली कंपनी बनी थी। माइक्रोसॉफ्ट का इस क्लब का हिस्सा बनने में उसके क्लाउड कंप्यूटिंग और एंटरप्राइज सॉफ्टवेयर का बड़ा हाथ है। कंपनी ने इन दोनों बिजनेस पर बड़ा दांव लगा रखा है।
2 ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा वैल्यूएशन वाली सिर्फ दो कंपनियां
माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के 2 लाख करोड़ डॉलर वैल्यूएशन वाली कंपनी बनने में उसके शेयरों में आई तेजी का योगदान है। न्यूयॉर्क में मंगलवार को माइक्रोसॉफ्ट के शेयर का भाव 1.1 फीसदी चढ़कर 265.64 डॉलर पहुंच गया। इससे कंपनी का बाजार पूंजीकरण 2 लाख करोड़ डॉलर पहुंच गया। अभी दुनिया में ऐसी सिर्फ दो कंपनियां हैं, जिनकी वैल्यूएशन इतनी ज्यादा है। पहली एपल और दूसरी माइक्रोसॉफ्ट।
सऊदी अरामको थोड़े समय के लिए बनी थी क्लब का हिस्सा
सऊदी अरब की ऑयल कंपनी सऊदी अरामको (Saudi Aramco) थोड़े समय के लिए इस क्लब का हिस्सा बनी थी। उसने दिसंबर 2019 में यह उपलब्धि हासिल की थी। अभी उसकी वैल्यूएशन करीब 1.9 लाख करोड़ डॉलर है। सऊदी अरामको दुनिया की सबसे बड़ी ऑयल कंपनी है।
भारतवंशी सत्य नडेला के हाथ में है माइक्रोसॉफ्ट की कमान
माइक्रोसॉफ्ट सॉफ्टवेयर कंपनी है, इसका मुख्यालय वाशिंगटन के रेडमंड में है। भारतवंशी सत्य नडेला (Satya Nadella) इसके चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) हैं। उन्होंने 2014 में इस कंपनी की कमान संभाली थी। उनके कार्यकाल में माइक्रोसॉफ्ट के कारोबार में शानदार बढ़ोत्तरी हुई है।
आज माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड-कंप्यूटिंग (Cloud-computing) सॉफ्टवेयर बेचने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। इसके अलावा यह उन बड़ी अमेरिकी टेक्नोलॉजी कंपनियों में भी शामिल है, जिसे अमेरिकी एंटीट्रस्ट रेगुलेटर की जांच का सामना नहीं करना पड़ा है। इससे कंपनी को कारोबार के विस्तार के लिए अनुकूल माहौल मिला है। इसने प्रोडक्ट के विस्तार के साथ ही कंपनियों के अधिग्रहण से अपना बिजनेस बढ़ाया है।
इस साल 19% चढ़ा माइक्रोसॉफ्ट का शेयर
इस साल माइक्रोसॉफ्ट के शेयर अब तक 19 फीसदी चढ़ चुके हैं। इस लिहाज से इसके शेयरों का प्रदर्शन एपल (Apple) और ऐमजॉन (Amazon) से बेहतर रहा है। निवेशक इस कंपनी के शेयर में इसलिए दिलचस्पी दिखा रहे हैं, क्योंकि उन्हें इसकी कमाई और रेवेन्यू में शानदार बढ़ोतरी की उम्मीद है। कंपनी ने अप्रैल के अंत में तीसरी तिमाही के नतीजों का एलान किया। उसके सभी कारोबारी सेगमेंट में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली।
-एजेंसियां