राजीव एकेडमी: MCA पंचम सेमेस्टर के सभी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण

मथुरा। कोरोना संक्रमणकाल में जहां बार-बार शैक्षिक गतिविधियां बाधित हुईं वहीं राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट में अध्ययन करने वाले छात्र-छात्राओं ने संस्थान की उच्च गुणवत्तापूर्ण शैक्षिक व्यवस्थाओं का लाभ उठाते हुए लगभग सभी संकाय में एक नया प्रतिमान स्थापित किया है। हाल ही में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय लखनऊ द्वारा घोषित एमसीए (2019-21) पंचम सेमेस्टर के परीक्षा परिणामों में राजीव एकेडमी के छात्र-छात्राओं ने न केवल शत-प्रतिशत सफलता हासिल की बल्कि वे प्रथम श्रेणी में भी उत्तीर्ण हुए हैं।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय (AKTU) लखनऊ द्वारा घोषित एमसीए (2019-21) पंचम सेमेस्टर के परीक्षा परिणामों में राजीव एकेडमी के जेरिन रेजी, आकांक्षा अग्रवाल व सचिन शर्मा ने संस्थान की प्रावीण्य सूची में क्रमशः पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया। जेरिन रेजी ने 81 प्रतिशत, आकांक्षा अग्रवाल ने 80.86 प्रतिशत तथा सचिन शर्मा ने 80 प्रतिशत अंक प्राप्त किए। छात्र-छात्राओं की इस शानदार सफलता से हर कोई प्रसन्न है।

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल ने कॉलेज में शीर्ष रैंक हासिल करने वाले एमसीए के विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि एमसीए की डिग्री की आज के समय में बहुत अहमियत है। विद्यार्थी एमसीए की पढ़ाई करके उच्च पैकेज पर महत्वपूर्ण नौकरी प्राप्त कर अपने स्वर्णिम सपनों को साकार कर सकते हैं। डॉ. अग्रवाल ने कहा कि राजीव एकेडमी हर विद्यार्थी के स्वर्णिम भविष्य के लिए संकल्पित है।

संस्थान के प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने एमसीए के परीक्षा परिणामों में सभी विद्यार्थियों के प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होने पर प्रसन्नता व्यक्त की तथा इसका श्रेय संस्थान के प्राध्यापकों को दिया। श्री अग्रवाल ने कहा कि आज के प्रतिस्पर्धात्मक युग में इस तरह की सफलता सिर्फ लगन और मेहनत से ही हासिल की जा सकती है। श्री अग्रवाल ने सभी छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

संस्थान के निदेशक डॉ. अमर कुमार सक्सेना ने कहा कि कोरोना काल में बार-बार विद्यार्थियों का अध्ययन बाधित होता रहा बावजूद एमसीए पंचम सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं ने शत-प्रतिशत सफलता हासिल कर न केवल अपनी मेधा का परिचय दिया बल्कि संस्थान का भी गौरव बढ़ाया है। डॉ. सक्सेना ने इस शानदार सफलता के लिए अभिभावकों का भी आभार माना।
– updarpan.com