उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, आयुष डॉक्टर लिख सकेंगे एलोपैथिक मेडिसिन

देहरादून। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर उत्तराखंड सरकार के आयुष व वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने तीन बड़ी घोषणाएं की हैं। मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि हरिद्वार में गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में कैंसर अनुसंधान केंद्र खोला जाएगा, साथ ही चार धाम के रास्तों में स्थित केएमवीएन और जीएमवीएन केंद्रों में योग केंद्र खोले जाएंगे और इमरजेंसी के समय आयुष डॉक्टर एलोपैथिक मेडिसिन लिख सकेंगे। ये घोषणा मुख्यमंत्री रावत के निर्देश पर की गई हैं।
डोईवाला स्थित योग केंद्र पर मुख्यमंत्री तीर्थ सिंह रावत और आयुष मंत्री हरक सिंह रावत योग दिवस के मौके पर योग कर रहे थे। योग करने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए मंत्री ने ये अहम घोषणाएं कीं।
सरकारी अस्पतालों के लिए ही निर्देश
कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि योग से आरोग्यता कायम रहती है। इंसान स्वास्थ्य और फुर्तीला रहता है। इसी क्रम ने आज यह फैसला लिया गया है कि चार धाम के रास्तों में योग केंद्र खोले जाएंगे, कैंसर अनुसंधान खोला जाएगा और साथ में आयुष डॉक्टर इमर्जेंसी में एलोपैथिक मेडिसिन लिख सकेंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी आयुर्वेदिक अस्पतालों में आपातकालीन परिस्थितियों में आयुष डॉक्टर एलोपैथिक दवाइयां लिख सकेंगे।
-एजेंसियां