गाजियाबाद पुलिस का ट्विटर को नोटिस, सात दिन के भीतर बयान दर्ज कराएं

गाजियाबाद पुलिस द्वारा Twitter को भेजे गए नोटिस की कॉपी
गाजियाबाद पुलिस द्वारा Twitter को भेजे गए नोटिस की कॉपी

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में मुस्लिम बुज़ुर्ग की पिटाई के मामले में यूपी पुलिस ने ट्विटर इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर मनीष माहेश्वरी को नोटिस भेजा है.
इस नोटिस में उन्हें सात दिन के भीतर लोनी बॉर्डर थाने में अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहा गया है.
नोटिस में ये भी लिखा गया है कि ट्विटर कम्युनिकेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से कुछ लोगों द्वारा अपने ट्विटर हैंडल का प्रयोग करते हुए समाज में घृणा और विद्वेष फैलाने के लिए प्रेषित संदेश का ट्विटर ने कोई संज्ञान नहीं लिया.
इस मामले में यूपी पुलिस ने पहले ही ट्विटर और कई पत्रकारों पर एफ़आईआर दर्ज की हुई है.
मंगलवार को दर्ज मुक़दमे में ट्विटर, ट्विटर कम्युनिकेसंश इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ऑल्ट न्यूज़ के संस्थापक पत्रकार मोहम्मद ज़ुबैर, पत्रकार राना अय्यूब, समाचार वेब पोर्टल द वायर, पत्रकार सबा नक़वी, कांग्रेस नेता मस्कूर उस्मानी, कांग्रेस नेता सलमान निज़ामी और कांग्रेस नेता डॉ. शमा मोहम्मद को अभियुक्त बनाया गया है.
ये केस एक एडिटेड वीडियो को वायरल करने के संबंध में दर्ज किया गया है.
-BBC