हेलमेट इंडिया अभियान: नकली हेलमेट बनाने व बेचने वालों पर कठोर कार्यवाही की मांग

मथुरा। ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति रजि. उत्तर प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित ने बताया क‍ि हर साल दोपहिया वाहन सवारों की मौत बढ़ती जा रही हैं, जो 2016 में 10135 थी और 2019 में 44666 तक पहुच गई है। भारत में प्रति वर्ष 37 प्रतिशत दो पहिया सवारों की मौतें होती हैं जिसमें से लगभग 30 प्रतिशत मौतें हेलमेट ना पहनने (MORTH रिपोर्ट 2019) की वजह से होती है।

इसी के साथ एक महत्पूर्ण मुद्दा है कि बहुत से लोग sub-standard या नकली हेलमेट पुलिस और आर टी ओ की चेकिंग से बचने के लिए पहनते हैं जो कि बहुत ही घातक होते हैं। हेलमेट खरीदते समय एक सवाल दिमाग में आता है कि सिर्फ एक हेलमेट पर ज्यादा खर्च क्यों किया जाए। इसका उत्तर UNECE की हेलमेट रिपोर्ट द्वारा दिया गया है।

संयुक्त राष्ट्र मोटरसाइकिल हेलमेट अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार उपयुक्त हेलमेट पहनने से टू-व्हीलर वाहन चालक के बचने की संभावना 42% तक बढ़ जाती है और सवारों को 69% चोटों से बचने में मदद मिलती है। खराब गुणवत्ता वाला हेलमेट बिना हेलमेट के समान है, एक अच्छी गुणवत्ता वाला हेलमेट जीवन रक्षक बन सकता है लेकिन दुर्भाग्य से लोगों को अपने कीमती जीवन को बचाने के लिए यह महँगा लगता है।

ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति रजि. उत्तर प्रदेश मुख्य महासचिव मनीष दयाल ने बताया हम सब मिलकर अब सड़क हादसों से जिंदगी बचाने के लिए समग्र देश से एन.जी.ओ प्रतिनिधियों एवं रोड सेफ्टी बाइकर ग्रुप एक साथ मिलकर एक संयुक्त “हेलमेट इंडिया अभियान”  #Mission30by23 अभियान कि शुरुआत राष्ट्रीय स्तर पर की है जिसका उद्देश्य ३० प्रतिशत सड़क दुर्घटना को कम करना है, जो क‍ि हेलमेट ना पहनने के कारण होती हैं और एक मुख्य वजह कहीं ना कहीं सही हेलमेट ना पहनना भी है I

इस अभियान में सभी विभागों द्वारा जैसे कि यातायात पुलिस, परिवहन विभाग से मिलकर ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जनजागरूकता समिति रजि. उत्तर प्रदेश की महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष व बाइक राइडर श्रीमती पूजा यादव एन.जी.ओ. व बाइकर ग्रुप द्वारा 7 अप्रैल से पूरे देश में दोपहिया स्थानीय सवारों को नकली व उप मानक हेलमेट के प्रयोग बुरे प्रभाव के बारे में जागरूक किया गया। साथ ही साथ हेलमेट तोड़कर भी हेलमेट की क्षमता दिखायी जायेगीl

हेलमेट जागरूकता अभियान में मौजूद राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित सुश्री प्रतिभा शर्मा एडवोकेट ने फेक व उपमानक हेलमेट निर्माताओं के खिलाफ कार्यवाही करने पर जोर दिया। उन्होंने साथ ही साथ लोगों को सिर्फ ISI मार्क हेलमेट पहनने की बात पर जोर दिया। उत्तर प्रदेश / मथुरा में इस ड्राइव की संयोजक सुश्री पूजा यादव एवं प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित ने नकली एवं उप मानक हेलमेट की बिक्री तथा हेलमेट न‍िर्माता कम्पनियों पर सख्त कार्यवाही कि मांग करते हुए महानगर अध्यक्ष अर्जुन पंडित ने अच्छे हेलमेट के पहनने पर जोर दिया, साथ ही उन्होंने कहा कि नकली और substandard हेलमेट आपके सि‍र की रक्षा कभी नहीं कर पायेगा। प्रोग्राम के दौरान नकली और sub standard हेलमेट को हथोडी से तोड़कर उसका impact टेस्ट भी लोगों को दिखायाl जिस पर मथुरा यातायात पुलिस अधीक्षक कमल किशोर ने कहा कि जो नकली हेलमेट बेचना व बनाना अपराध है और ऐसा करने वालों पर IPC की धारा 420 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी।

हेलमेट जागरूकता अभियान में यातायात पुलिस निरीक्षक डॉ अशोक कुमार सिंह, हेड कांस्टेबल विनेश, ट्रैफिक मेजर धर्मपाल सिंह, हेड कांस्टेबल अजीत कांस्टेबल, प्रमोद कुमार पूनिया, एससीपी रामकिशोर, समिति के प्रदेश महासचिव लक्ष्मी कांत शास्त्री, मुकेश शर्मा, विनोद पांडे, सुरेश चंद गुप्ता, प्रवीण मिश्रा, चंद्रकांत पांडे, शिवम अग्निहोत्री, कुलदीप शास्त्री, कुमारी आराधना भारद्वाज आदि मुख्य रूप से शामिल रहेl

– updarpan.com