सचिन वझे की NIA हिरासत 9 अप्रैल तक बढ़ी, CBI को भी पूछताछ की इजाजत

मुंबई। मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वझे को बुधवार को विशेष NIA अदालत के सामने पेश किया गया। यहां राष्ट्रीय अभिकरण एजेंसी (एनआईए) ने अदालत से सचिन वझे की हिरासत चार दिन और बढ़ाने की मांग की। अदालत ने वझे की हिरासत को नौ अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया।

इसके साथ ही विशेष अदालत ने CBI (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) को भी एनआईए की हिरासत में मौजूद सचिन वाजे से पूछताछ करने की अनुमति दे दी। अदालत ने सीबीआई को निर्देश दिया कि वझे से पूछताछ करने के समय का निर्धारण करने के लिए वह एनआईए के साथ समन्वय करे।

एजेंसी ने अदालत से मुंबई पुलिस के निलंबित कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे और नरेश धरे की न्यायिक हिरासत की भी मांग की। इन लोगों को मनसुख हिरेन मौत मामले में गिरफ्तार किया गया था।

हिरासत बढ़ाए जाने की मांग पर वाजे के वकील ने कहा कि वह एनआईए की हिरासत की मांग का विरोध नहीं कर रहे हैं। वह जांच में सीबीआई से सहयोग करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि वह इस पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं कि वाजे को छत्रपति शाहूजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) पर हथकड़ी में ले जाया गया।

मनसुख हिरेन मौत मामले में आरोपी है वझे
25 फरवरी को देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित आवास एंटीलिया के बाहर एक कार में विस्फोटक सामग्री मिली थी, इसके अलावा गाड़ी में एक धमकी भरा पत्र भी बरामद हुआ था। इस मामले में सीसीटीवी फुटेज की जांच में सामने आया कि यह गाड़ी मनसुख हिरेन नामक एक व्यक्ति के नाम पर थी। पांच मार्च को गाड़ी मालिक मनसुख हिरेन का शव कालवा की खाड़ी से बरामद हुआ था। इस मामले में महाराष्ट्र एटीएस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले ने तूल पकड़ा तो जांच एनआईए के हवाले की गई। फिलहाल यह मामला एनआईए के पास है। वझे को इस मामले में 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया था।
-एजेंसियां