अब एनआईए करेगी एंटीलिया विस्फोटक केस की जांच

मुंबई। एंटीलिया विस्फोटक केस की जांच अब एनआईए करेगी, एनआईए जल्द ही इस मामले में फिर से केस दर्ज करने की प्रक्रिया में है।  मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर एंटीलिया के पास खड़ी कार में विस्फोटकों की बरामदगी के बाद इस मामले की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी करेगी।

इसकी एक वजह यह भी मानी जा रही है कि अंबानी के घर के बाहर जिस कार में विस्फोटक रखा गया था, उस कार के मालिक मनसुख हिरेन की कुछ दिन पहले लाश मिली थी।

मनसुख की लाश मिलने के बाद मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल उठने लगे। इस पूरे मामले में विपक्षी दल भाजपा के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री  देवेंद्र फडणवीस ने एनआईए से जांच कराने की मांग की थी। इसके बाद गृह मंत्रालय ने मामला एनआईए को सौंप दिया।

जानकारी के मुताबिक कुछ दिनों पहले ही स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन की संदिग्ध मौत हो गई थी और लाश एक नाले से बरामद की गई थी। इतना ही नहीं शव की जांच के दौरान उनके मुंह से पांच रूमाल निकले थे।

इन्हीं सब को देखते हुए गृह मंत्रालय ने पूरे मामले की जांच एनआईए को सौंप दी है। अब एनआईए मनसुख हिरेन की मौत मामले की जांच कर पता लगाएगी कि एंटीलिया के बाहर स्कॉर्पियो खड़ा करने का क्या मकसद था और इसके पीछे किसकी साजिश थी।

बता दें 25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर विस्फोटकों से भरी एक स्कॉर्पियो गाड़ी खड़ी मिली थी। इसके बारे में पता चलते ही हंगामा मच गया। पुलिस के अनुसार यह कार 24 फरवरी की मध्य रात एक बजे के करीब एंटीलिया के बाहर खड़ी की गई थी। इसमें 20 जिलेटिन की रॉड बरामद की गई थी।

जिलेटिन मिलने की वजह से पुलिस इस पूरे मामले में आतंकी एंगल को भी तलाश रही है। फिलहाल इस मामले में आईपीसी की कई धाराओं के तहत केस दर्ज किए गए हैं।

– एजेंसी