15 जन. को श्रीकृष्ण जन्मस्थान से प्रारंभ होगा निधि समर्पण अभियान: गोविन्दजी

मथुरा। श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण हेतु निधि समर्पण अभियान का शुभाारंभ श्रीकृष्ण-जन्मभूमि से होगा। लगभग 500 वर्ष के सतत संघर्ष के उपरांत अयोध्या में श्रीराम मन्दिर निर्माण की शुभ बेला का साक्षी होना हम सबके लिये सौभाग्य का विषय है। रामराज्य की पुनर्स्थापना का उदय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विगत दिनों भूमि-पूजन कर किया ही जा चुका है। जिस भव्य मन्दिर के निर्माण की रूपरेखा तैयार की गयी है, उसमें हर गांव, नगर व द्वार-द्वार सम्पर्क का अभियान रामभक्त कार्यकर्ताओं द्वारा चलाया जा रहा है।

उक्त विचार व्यक्त करते हुये राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग प्रचारक गोविन्दजी ने मन्दिर निर्माण में जन-जन की भागीदारी सुनिश्च‍ित करने की अपील की ।

श्रीगोविन्दजी श्रीकृष्ण-जन्मस्थान अन्तर्राष्ट्रीय विश्राम-गृह में मकर संक्रान्ति के पावन पर्व पर श्रीकृष्ण-जन्मस्थान स्थित भागवत-भवन से प्रातः 09 बजे पूजन उपरांत आरंभ हो रहे श्रीराम-जन्मभूमि मन्दिर निर्माण निधि समर्पण अभियान के संदर्भ में आयोजित पत्रकार-वार्ता को संबोधित कर रहे थे ।

पत्रकार वार्ता में उपस्थित श्रीकृष्ण-जन्मस्थान सेवा-संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने बताया कि श्री केशवदेव के मन्दिर से इस पवित्र अभियान का शुभारंभ राम भक्तों को निश्चय ही अधिकतम निधि समर्पण हेतु प्रेरित करेगा। प्रस्तावित श्रीराम मन्दिर किसी संगठन या दल विशेष का न होकर भारतीय जन-जन का मन्दिर होगा, यह सनातन के अनुयाईयों का मन्दिर होगा, जो एक नये युग का सूत्रपात करेगा । श्री शर्मा ने बताया कि भागवत-भवन पर एक विशेष मण्डप बनाकर निधि संकलन पटल का संचालन किया जायेगा ताकि देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालु भी श्रद्धानुसार निधि समर्पित कर सकें। निधि समर्पण पटल का शुभारंभ सुदामा कुटी के महन्त सुतीक्ष्णदास जी महाराज व सुप्रसिद्ध कथावाचक श्री अतुल कृष्ण भारद्वाज द्वारा किया जायेगा ।

इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुये संस्थान की प्रबंध-समिति के सदस्य हिन्दूवादी नेता गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी ने कहा कि 500 वर्ष पूर्व आये आक्रान्ता द्वारा सनातन परंपरा के मानबिन्दु राममन्दिर को ध्वस्त कर जो कलंक का टीका लगाया था वह साढ़े तीन लाख हिन्दू वीरों के रक्त से धुल चुका है और अब जिस मन्दिर का निर्माण होने जा रहा है वह उन बलिदानियों के लिये सच्ची श्रद्वांजलि का स्मारक भी होगा जिसे देखे बिना वे इस दुनिया से चले गये ।

वार्ता में उपस्थित संघ के महानगर कार्यवाह संजय अग्रवाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार अग्रवाल, श्रीरामलीला सभा के सभापति जयन्ती प्रसाद अग्रवाल व विहिप के महानगर कार्याध्यक्ष अमित जैन ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर संस्थान के विशेष कार्याधिकारी विजय बहादुर सिंह, अनुराग पाठक, व्यापारी नेता नन्दकिशोर गोस्वामी, श्रीकृष्ण सेवा मण्डल के अतुल शोरावाले व रणधीर कुमार सिंह की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।
– updarpan.com