ब्राज़ील: कोविड-19 की वैक्सीन के ट्रायल में एक वॉलंटियर की मौत

ब्राज़ील के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोविड-19 की वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल में एक वॉलंटियर की मौत हो गई है, बावजूद इसके ट्रायल जारी रहेगा.
ब्राज़ील में ऑक्सफोर्ड की बनाई कोरोना वायरस वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है जिसका एस्ट्राज़ेनिका बड़े पैमाने पर उत्पादन करने वाली है.
समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार ऑक्सफोर्ड ने आंकलन के बाद टेस्टिंग जारी रखने की बात की है और एक बयान जारी कर कहा है, “क्लिनिकल ट्रायल की सुरक्षा को लेकर कोई चिंताएं नहीं हैं.” इस मुद्दे पर अब तक एस्ट्राज़ेनिका ने कोई टिप्पणी नहीं की है.
रॉयटर्स ने एक सूत्र के हवाले से ख़बर दी कि जिस वॉलंटियर की मौत हुई है अगर उसे कोविड-19 की वैक्सीन दी गई होती तो ट्रायल बीच में ही रोक लिए जाते लेकिन उन्हें कोविड-19 की वैक्सीन नहीं दी गई बल्कि मेनिन्जाइटिस की वैक्सीन दी गई थी.
ब्राज़ील में हो रहे तीसरे चरण के इन क्लिनिकल ट्रायल्स का संचालन कर रही साओ पालो की फेडेरल यूनिवर्सिटी का कहना है कि इस संबंध में एक स्वतंत्र समीक्षा समिति ने भी ट्रायल जारी रखने का सुझाव दिया है.
इससे पहले यूनिवर्सिटी ने कहा था कि जिस वॉलंटियर की मौत हुई वो ब्राज़ीलियाई नागरिक था. सीएनएन ब्राज़ील के अनुसार जिस वॉलंटियर की मौत हुई है वो 28 साल का था और रियो डी जेनिरो का रहने वाला था. उनकी मौत कोविड-19 के कारण हुए कॉम्लिकेशन्स की वजह से हुई है.
यूनिवर्सिटी के एक प्रवक्ता ने कहा है कि अब तक देश के छह शहरों में आठ हज़ार वॉलंटियर्स को चिन्हित कर लिया गया है और उन्हें वैक्सीन की पहली डोज़ दे दी गई है. कइ लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ भी दी गई है.
ब्राज़ील सरकार का कहना है कि उसकी योजना ऑक्सफोर्ड की बनाई वैक्सीन ख़रीदने की है जिसे रियो डी जेनिरो में मौजूद फियोक्रूज़ बायोमेडिकल रीसर्च सेंटर में बड़े पैमाने पर बनाया जाएगा.
ब्राज़ील के बूटानटान इंस्टीट्यूट में इस वक्त चीनी कंपनी साइनोवैक बायोटेक कंपनी की कोविड-19 वैक्सीन का टेस्ट भी चल रहा है. हालांकि ब्राज़ीलियाई राष्ट्रपति ज़ाएर बोलसोनारो का कहना है कि फिलहाल साइनोवैक की वैक्सीन ख़रीदने की उनकी कोई योजना नहीं है.
-BBC