जनरल बाजवा और जनरल फैज ने पाकिस्‍तान को बर्बाद कर दिया: नवाज

पाकिस्तान के गुजरांवाला में संयुक्त विपक्ष की पहली रैली में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पाकिस्तानी सेना और इमरान खान पर जमकर निशाना साधा। नवाज शरीफ ने आरोप लगाया कि पाकिस्तानी सेना ने उन्हें जबरदस्ती सत्ता से बेदखल कर इमरान खान को ताज सौंपा था। नवाज ने सीधे-सीधे पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा और खुफिया एजेंसी आईएसआई चीफ लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद का नाम लिया।
पाकिस्तानी आर्मी चीफ का नाम लेकर हमला
लंदन से वीडियो लिंक के जरिए गुजरांवाला में पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के पहले शक्ति प्रदर्शन में नवाज शरीफ ने सीधे तौर पर जनरल बाजवा का नाम लेते हुए पूछा कि किसने स्टेट के ऊपर एक अलग स्टेट बनाया? पाकिस्तान में दो सरकारों के लिए जिम्मेदार कौन है? उन्होंने कहा कि यह सब पाकिस्तानी सेना के जनरल बाजवा कर रहे हैं।
नवाज शरीफ बोलता रहेगा…
उन्होंने पाकिस्तानी सरकार और सेना को चुनौती देते हुए कहा कि अगर आप चाहें तो मुझे देशद्रोही करार दे सकते हैं, मेरी संपत्ति जब्त कर सकते हैं, मेरे खिलाफ झूठे मामले दर्ज कर सकते हैं, लेकिन नवाज शरीफ अपने लोगों के लिए बोलता रहेगा। उन्होंने आईएसआई चीफ फैज हामिद का नाम लेते हुए कहा कि इन सबके पीछे उनका भी हाथ है।
तानाशाह भाग गया पर जननेता परेशान
नवाज शरीफ ने इमरान खान सरकार पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ की सरकार काम करने में विफल साबित हुई है। पाकिस्तान के लोग सरकार की अक्षमता का भुगतान कर रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि अदालत द्वारा सजा दिए जाने के बावजूद एक तानाशाह क्यों भाग गया, जबकि एक जन नेता को दोषी साबित किया जा रहा है।
क्यों कार्यकाल पूरा नहीं करने देती सेना?
नवाज शरीफ ने पाकिस्तानी सेना से सवाल पूछा कि निर्वाचित प्रधानमंत्रियों को अपने पांच साल के कार्यकाल को पूरा करने की अनुमति क्यों नहीं दी जाती है? उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में हमने विकास के बहुत काम करवाए थे, प्रगति भी की थी, लेकिन इस सरकार ने सब कुछ बर्बाद कर दिया। बता दें नवाज शरीफ तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बन चुके हैं लेकिन तीनों बार वे अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर सके हैं।
नवाज का सवाल, देशद्रोही कौन?
उन्होंने खुद को देशद्रोही घोषित किए जाने पर भी आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है कि सैन्य तानाशाहों ने देश के जन नेताओं के लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा कि मुझे इसलिए हटाया गया क्योंकि मैं देश के कानून और संविधान की बातें करता था। उन्होंने सवाल पूछा कि देशभक्त कौन हैं? संविधान को नष्ट करने वाले, जिन्होंने देश को दो हिस्सों में तोड़ दिया।
सरकारी एजेंसियों पर साधा निशाना
उन्होंने सीपीईसी के पूर्व चेयरमैन असीम सलीम बाजवा पर भी निशाना साधा। नवाज ने कहा कि भले ही उन्होंने चेयरमैन और प्रधानमंत्री के सूचना सहायक के पद से इस्तीफा दे दिया है, लेकिन वे अभी तक आय से अधिक संपत्ति के किसी जांच का सामना क्यों नहीं कर रहे? नवाज ने कहा कि राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) को दावों की जांच करनी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि एनएबी सरकार के इशारे पर काम कर रहा है।
-एजेंसियां