मथुरा: दबिश देने पहुंचे दरोगा-सिपाही पर हमला कर जुआरी को छुड़ाया

मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में कोतवाली क्षेत्र में पुलि‍सकर्म‍ियों पर हमला कर जुआर‍ियों को छुड़ा ले जाने की बड़ी वारदात हो गई, ज‍िसके बाद पूरे क्षेत्र में पुल‍िस गश्त जारी है।

घटना के अनुसार आज शुक्रवार की दोपहर जुआरी को पकड़ने पहुंचे पुलिसकर्मियों पर भीड़ ने हमला कर दिया। पथराव करने के साथ ही पुलिसकर्मियों से मारपीट की गई। भीड़ ने जुआरी को पुलिस की अभिरक्षा से छुड़ा लिया। इस दौरान पुलिसकर्मियों को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा। बाद में और पुलिस फोर्स के पहुंचने पर मामला शांत हुआ। पुलिस टीम पर हमला करने वालों की गिरफ्तारी के लिए सर्च अभियान चल रहा है।

ये मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के मनोहरपुरा का है। थाना गोविंद नगर के डीग गेट पुलिस चौकी के एक दारोगा व एक सिपाही बाइक पर सवार होकर शुक्रवार की दोपहर दो बजे मनोहरपुरा के स्लॉटर हाउस वाली गली पहुंचे। इस दौरान एक स्थानीय शख्स को पकड़ा गया। उसे बाइक पर बिठाकर पुलिसकर्मी ले जाने लगे। तभी आरोपी के साथियों व स्थानीय लोगों ने इसका विरोध करते हुए सिपाहियों पर पथराव कर दिया। पथराव में बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई। दोनों पुलिसकर्मियों से हाथापाई की गई और पकड़े गए शख्स को छुड़ा ले गए। भीड़ की मंशा भांपकर सिपाहियों को मौके से भागना पड़ा।

जुआरी को पकड़ने पहुंची थी टीम

इसके बाद थाने को सूचना दी। एसपी सिटी उदयशंकर सिंह मौके पर पहुंचे। एसपी सिटी ने बताया कि एक दरोगा और सिपाही एक अपराधी के जुआ खेलने की सूचना पर पहुंचे थे। पुलिस को देखते ही वहां पथराव शुरू हो गया। लेकिन अब स्थानीय लोग पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं। लोगों का कहना है कि दूसरे थाना क्षेत्र में जुआ खेलने की बात पर दबिश देने की क्या जरुरत थी। लोकल पुलिस को साथ में लेकर जाना चाहिए था या सूचना देना चाहिए था।
– एजेंसी