प्रतापगढ़: डीएम पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा एडीएम पत्नी सह‍ित धरने पर बैठे

लखनऊ। आईपीएस अम‍िताभ ठाकुर के बाद अब प्रतापगढ़ के अतिरक्ति एडीएम विनीत उपाध्याय ने भ्रष्टाचार के खि‍लाफ आवाज़ उठाई है। उपाध्याय अपनी पत्नी के साथ डीएम कार्यालय के भीतर धरने पर बैठ गए हालांक‍ि अभी अभी म‍िले समाचार के अनुसार जिलाधिकारी रूपेश कुमार के बंगले पर उनके चैंबर में धरने पर बैठे एसडीएम विनीत उपाध्याय को पांच घण्टे बाद एडीएम एलआर की गाड़ी से भारी पुलिस बल अज्ञात स्थान को लेकर रवाना हो गए हैं।

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में शुक्रवार को अतिरक्ति एडीएम विनीत उपाध्याय अपनी पत्नी के साथ डीएम कार्यालय के भीतर धरने पर बैठ गए हैं। उन्होंने डीएम डॉक्टर रूपेश कुमार और दो एसडीएम पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। डीएम कार्यालय में किसी के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है। मीडिया को भी बाहर रोका गया है। एसडीएम उपाध्याय अफसरों पर कार्रवाई की मांग पर अड़े हैं।

ये अजब इत्तेफाक ही है क‍ि आज ही आईपीएस अम‍िताभ ठाकुर ने भी डीजीपी को थाने चौक‍ियों पर भ्रष्टाचारी पुल‍िस कर्म‍ियों की वसूली ल‍िस्ट सौंपी है।

एडीएम का डीएम पर ये आरोप
मामला लालगंज इलाके की एक जमीन पर विद्यालय की मान्यता से जुड़ा है। बताया जा रहा है कि जिस जमीन पर विद्यालय होने की बात कहकर मान्यता ली गई, वहां विद्यालय न होकर दूसरी जगह संचालित हो रहा है। इस मामले की शिकायत आने के बाद एसडीएम अतिरिक्त विनीत उपाध्याय ने जांच की तो ये खुलासा हुआ। उन्होंने जांच रिपोर्ट बनाकर डीएम को फाइल भेज दी लेकिन वह फाइल दबा दी गई। शासन को नहीं भेजी गई। इसी बात को लेकर विनीत उपाध्याय नाखुश हैं।

एसडीएम विनीत उपाध्याय दोपहर 12 बजे से डीएम कार्यालय में धरने पर हैं तब से बंगले में सिर्फ अफसरों, पुलिसकर्मियों को आने जाने की अनुमति है। बाहर भी पुलिस का पहरा है। मीडियाकर्मियों पर कवरेज के लिए रोक लगा दी गई है।

एसडीएम ने वकीलों पर तान दी थी रायफल
एसडीएम विनीत उपाध्याय प्रतापगढ़ में बीते दो साल से तैनात हैं। साल 2019 में नवंबर में इनकी तैनाती लालगंज तहसील में थी। तब वकीलों से हुए एक विवाद में विनीत उपाध्याय ने होमगार्ड की रायफल छीनकर वकीलों पर तान दी थी। तब डीएम मार्कंडेय शाही थे। उन्होंने एसडीएम लालगंज के पद से हटाकर विनीत उपाध्याय को अतिरक्ति एसडीएम बना दिया था। सीओ सिटी अभय पांडेय, शहर कोतवाल समेत भारी पुलिस बल डीएम आवास के अंदर मौजूद है।
– एजेंसी