कोरोना संकट में झारखंड हुआ सोने से मालामाल, राज्य में मिली 250 किलो सोने की खान का भंडार

झारखंड सरकार कोरोना संकट के बीच मालामाल हो गई है. इस महामारी के दौर में झारखंड में एक सोने की खान मिलने से सरकार को करोड़ों का फायदा होने जा रहा है. इतना ही नहीं राज्य में 7 और दूसरी जगहों पर सोने की खानें मिलने की संकेत मिले हैं.
बताया जा रहा है कि झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के भीतरडारी में एक सोने की खान मिली है जिसमें 250 किलो सोने का भंडार (Gold Reserves) मिला है. इस बारे में भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण विभाग (Geological Survey of India) के उप महानिदेशक और निदेशक ने राज्य के खान सचिव अबूबकर सिद्दीकी को इस खान में मिले सोने के भंडार को लेकर एक रिपोर्ट सौंपी है. इस रिपोर्ट में लिखा गया है कि भीतरडारी में मिली एक सोने की खान में 250 किलो सोने का भंडार मिला है.

वहीँ, अब झारखंड सरकार अब इस खान की नीलामी करेगी, जिसके लिए तैयारियां शुरू की गई हैं. इस नीलामी से राज्य सरकार को 120 करोड़ रूपये मिलने की संभावना है. बताया जा रहा है इस खान में अलग-अलग तरह की गुणवत्ता वाले सोने की मात्रा का पता लगा है. इस वैराइटी वाले सोने से कुल मिलकर 250 किलो सोना निकलने की उम्मीद की जा रही है.
इतना ही नहीं, इस खान के बारे में दी गई भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण की रिपोर्ट में बताया गया है कि झारखंड में जल्द ही सोने की खाने मिलने वाला राज्य बन सकता है. इससे पहले भी यहां के लावा, , कुंदरकोचा, पहाड़डीहा और परासी में सोने की खानों का पता लगाया गया था. अब ऐसी उम्मीद की जा रही है कि आगे आने वाले दिनों में झारखंड के कई जिलों में सोने की खाने मिलने की सम्भावनाएं हैं.
इसी संभावना के चलते कई सालों से रांची से लेकर तमाड़ के बीच सोने की खानों की खोज की जा रही है और कई जगहों पर बालू में से सोने के कण छानने का काम किया जा रहा है.