दवाई का सेवन करने से पहले जरुर पढ़े ये खबर, वरना होगा

हम अक्सर डॉक्टरी सलाह के बिना दवाइयों का सेवन कर लेते हैं।
आपने भी पक्का सर्दी, खासी, जुकाम या हल्का बुखार होने पर खुद इलाज करने की कोशिश की होगी। लेकिन ऐसा करना आपको और ज्यादा बीमार बना सकता है। कई रिपोर्ट में भी यह खुलासा हुआ है कि बिना डॉक्टरी परामर्श के दवाओं का सेवन शरीर में कई गंभीर बीमारियों को जन्म दे सकता है। इसलिए बिना डॉक्टरी सलाह के दवाइयों का सेवन नहीं करें।

माइग्रेन और बुखार में गलत दवाइयों का इस्तेमाल-

माइग्रेन (Migraine) के वक्त अक्सर लोग बूफ्रेन (Brufen) या सैरीडॉन (Saridon) का सेवन बिना इसके दुष्प्रभाव को जाने कर लेते हैं। उसी तरह कुछ लोग बुखार में पेरासिटामोल (Paracetamol) और एंटीबायोटिक (Antibiotic) दवाइयां ले लेते हैं। हालांकि इन्हें खाने के बाद कुछ समय के लिए शरीर में आराम भी महसूस होता है, परंतु नींद बहुत ज्यादा आती है।

बहुत अधिक खुराक लेना-

कई बार हम बीमारियों से जल्दी घबरा जाते हैं और सोचने लगते हैं अगर ज्यादा बीमार हो गए तो ऑफिस या काम कैसे मैनेज होगा। ऐसे में कई बार हम समय की कमी के कारण बिना डॉक्टरी सलाह के दवा लेना शुरू कर देते हैं। कुछ लोग बीमारी की पूरी जानकारी नहीं होने के बावजूद जल्दी स्वस्थ होने के चक्कर में खुराक भी बढ़ा लेते हैं।

अगर आप भी ऐसा करते हैं तो अनचाहे या विपरीत प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है। उदहारण के लिए दर्द की दवाओं की अधिक डोज लेने से नींद या बहुत ज्यादा थकान महसूस हो सकती है। खांसी होने पर भी कई लोग बिना सोचे-समझे किसी भी दवा या कफ सिरप (Cough Syrup) का सेवन बार-बार करने लगते हैं।