PFI के पोस्‍टर पर TMC सांसद का नाम, सांसद ने अनभिज्ञता जताई

कोलकाता। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन के दौरान कई जगहों पर जमकर हिंसा हुई थी। इस हिंसा के लिए जिम्मेदार बताए जा रहे कट्टरपंथी संगठन पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) पर यूपी सरकार बैन की तैयारी कर रही है। अब PFI की रैली से जुड़े एक पोस्टर में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के एक सांसद अबू ताहिर खान का नाम आया है। हालांकि, TMC सांसद ने PFI से किसी भी तरह के संबंध से इंकार किया है।
जानकारी मुताबिक एनआरसी, सीएए और एनपीआर के खिलाफ PFI द्वारा एक रैली बुलाई गई है। इस बारे में PFI के हसीबुल इस्लाम ने कहा, ‘हम 5 जनवरी को मुर्शिदाबाद में सीएए के खिलाफ एक प्रदर्शन आयोजित कर रहे हैं। सांसद अबू ताहिर खान भी इस प्रदर्शन का हिस्सा होंगे।’
अबू ताहिर खान बोले, मुझे कुछ पता नहीं
दूसरी ओर इस पोस्टर और रैली में हिस्सा लेने की बात से इंकार करते हुए अबू ताहिर खान ने कहा, ‘मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। अगर उन लोगों ने पोस्टर में मेरा नाम लिखा है तो मैं इसमें कुछ नहीं कर सकता हूं।’ बता दें कि अबू ताहिर खान मुर्शिदाबाद से TMC के सांसद हैं।
क्या है PFI?
PFI खुद को एक गैर सरकारी संगठन बताता है। इस संगठन पर कई गैर-कानून गतिविधियों में शामिल रहने का आरोप है। गृह मंत्रालय का कहना है कि इस संगठन के लोगों के संबंध जिहादी आतंकियों से हैं, साथ ही इस पर इस्लामिक कट्टरवाद को बढ़ावा देने का आरोप है। पीएफआई ने खुद पर लगे इन सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है और एनआईए की जांच को षड्यंत्र का हिस्सा बताया है।
PFI के खिलाफ ये आरोप
गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि PFI के खिलाफ उनके पास पर्याप्त सबूत हैं। इसमें एनआईए की वह जांच रिपोर्ट भी है, जिसमें इस संगठन पर 6 आतंकी घटनाओं में शामिल रहने का आरोप लगाया है। इसके अलावा राज्यों की पुलिस की रिपोर्ट भी एनआईए के पास है, जिसमें इस संगठन पर धार्मिक कट्टरवाद को बढ़ावा देने, आतंकी गतिविधियों में शामिल रहने और जबरन धर्मांतरण का आरोप भी लगा है।
-एजेंसियां

The post PFI के पोस्‍टर पर TMC सांसद का नाम, सांसद ने अनभिज्ञता जताई appeared first on updarpan.com.