CDS की नियुक्‍ति पर उठाए गए अपने नेताओं के सवालों से कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा

नई दिल्‍ली। देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ CDS की नियुक्ति को सशस्त्र बलों का राजनीतिकरण बताने संबंधी अपने 2 बड़े नेताओं के बयान से कांग्रेस ने बुधवार को दूरी बना ली।
कांग्रेस प्रवक्ता सुष्मिता देव ने कहा कि देश की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सरकार की ओर से उठाए गए किसी भी कदम का उनकी पार्टी विरोध नहीं करती है।
दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस मुद्दे पर कांग्रेस को घेरते हुए कनफ्यूज्ड पार्टी करार दिया है।
उधर, सियासी बयानबाजियों के बीच वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने CDS को लेकर सरकार के फैसले को बहुत बड़ा और बहुत ही साहसिक कदम बताया है। वायु सेना प्रमुख ने कहा कि इससे तीनों सेनाओं के बीच तालमेल और बेहतर होगा।
तीनों सेनाओं में तालमेल और बेहतर होगी: एयर फोर्स चीफ
एयर फोर्स चीफ भदौरिया ने कहा, ‘CDS पद का सृजन बहुत बड़ा और बहुत ही साहसिक कदम है। …इससे तीनों सेनाओं में बेहतर तालमेल और संयुक्तता का भाव आएगा। जिन जरूरतों को लेकर इस पद को बनाया गया है, उन्हें तय समय में हासिल किया जाएगा। इस दिशा में काफी काम होने हैं और हम उन्हें अच्छे से करेंगे।’
CDS को लेकर वायु सेना की भूमिका पर उन्होंने कहा, ‘भारतीय वायु सेना को पूरी तरह सपोर्ट मिलेगा। संयुक्तता का भाव लाने के लिए जो कुछ भी करने की जरूरत होगी, उसे वायुसेना करेगी। ट्रेनिंग, लॉजिस्टिक्स जैसे क्षेत्र की पहचान पहले ही की जा चुकी है और हाल के समय में हमने इस दिशा में बहुत कुछ किया है और हमें और भी बहुत कुछ करने की जरूरत है। हमारी कोशिशें जारी रहेंगी।’
अधीर और तिवारी के बयानों से कांग्रेस ने झाड़ा पल्ला
कांग्रेस प्रवक्ता सुष्मिता देव ने अधीर रंजन चौधरी और मनीष तिवारी के बयानों से पल्ला झाड़ते हुए बुधवार को कहा, ‘अगर कांग्रेस के किसी नेता ने कहा है तो उस पर टिप्पणी नहीं करूंगी। CDS का निर्णय भारत सरकार का है। हम आशा करते हैं कि वह अपने कर्तव्य का पालन करेंगे। भारत सरकार देश की सुरक्षा मजबूत करने के लिए कोई भी कदम उठाएगी, तो कांग्रेस उसका विरोध नहीं करेगी।’ उन्होंने साथ में यह भी कहा, ‘आगे पूरा देश देख पाएगा कि जनरल रावत कैसे काम करते हैं। इससे पहले इस विषय पर कुछ कहना सही नहीं होगा।’
क्या कहा था अधीर रंजन और मनीष तिवारी ने
लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा था, ‘बिपिन रावत जी के वैचारिक झुकाव का असर गैर राजनीतिक संस्था सेना पर नहीं पड़ना चाहिए।’ वहीं, पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा था, ‘बहुत ही अफसोस और पूरी जिम्मेदारी के साथ कहना चाहता हूं कि CDS के संदर्भ में सरकार ने पहला ही कदम गलत उठाया है। इस निर्णय के दुष्प्रभाव के बारे में समय बताएगा।’ तिवारी ने CDS पोस्ट पर ही सवाल उठाते हुए कहा था कि इसमें ‘स्पष्टता की कमी’ है और यह तीनों सेनाओं और सरकार के बीच स्थापित वरीयता क्रम की व्यवस्था में ‘दिक्कतें’ पैदा करेगा।
हम खुद को राजनीति से दूर रखते हैं: जनरल रावत
नव नियुक्त चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ CDS बिपिन रावत ने बुधवार को कहा कि सशस्त्र बल अपने आप को राजनीति से दूर रखते हैं और सरकार के निर्देशों के अनुरूप काम करते हैं। उनकी यह टिप्पणी उन आरोपों के बीच आयी है कि सशस्त्र बलों का राजनीतिकरण किया जा रहा है। जनरल रावत ने यह भी कहा कि CDS के तौर पर उनका लक्ष्य तीनों सेवाओं के बीच समन्वय और एक टीम की तरह काम करने पर केंद्रित होगा।
कन्फ्यूज्ड पार्टी है कांग्रेस: जावड़ेकर
CDS पोस्ट को लेकर कांग्रेस नेताओं के सवाल उठाने पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस को कन्फ्यूज्ड पार्टी करार दिया है। उन्होंने कहा कि सीडीएस की नियुक्ति के मुद्दे के राजनीतिकरण की कोशिश निंदनीय है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक कन्फ्यूज्ड पार्टी है और उसके नेता अलग-अलग बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी के ट्वीट उनके सलाहकार कर रहे हैं और कांग्रेस के नेता अलग-अलग बाते बोल रहे हैं।’
-एजेंसियां

The post CDS की नियुक्‍ति पर उठाए गए अपने नेताओं के सवालों से कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा appeared first on updarpan.com.