पेसीफ‍िक देश Palau ने सन क्रीम के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया

गेरुलमुड। प्रशांत महासागरीय देश Palau सन क्रीम के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाने वाला पहला देश बन गया है। पर्यटकों के बीच मशहूर Palau में नए साल से सन क्रीम पर यह प्रतिबंध उसमें इस्तेमाल होने वाले खतरनाक रसायन के चलते लगाया गया है। 20 हजार की आबादी वाले देश ने ऑक्सीबेंजोन और ऑक्टीनोजेट रसायनों से बनी क्रीम पर पाबंदी की घोषणा पहले ही कर दी थी।

Palau अपनी समुद्री सुंदरता के लिए जाना जाता है। कोरल रीफ से घिरे इसके द्वीप विभिन्न प्रकार के जीवों के घर हैं। इंटरनेशनल कोरल रीफ फाउंडेशन के मुताबिक, सन क्रीम के तौर पर इस्तेमाल होने वाले रसायन समुद्री जीवों के लिए जहर के समान हैं। पाबंदी लागू करते हुए पलाऊ के राष्ट्रपति टॉमी रेमेंगेसाऊ ने कहा कि हमें अपने वातावरण को बचाना होगा। वन्यजीवों पर खतरनाक असर को देखते हुए अमेरिका के वर्जिन आइलैंड्स और हवाई प्रांत में भी सन क्रीम पर पाबंदी लगाई जा चुकी है।

बता दें कि महासागरों के परिस्‍थितिकी तंत्र को बचाने के लिए पिछले साल नवंबर में भारत ने भी बड़ा कदम उठाया था। भारत के नौवहन महानिदेशालय (Directorate General of Shipping) ने साल 2020 से भारतीय जहाजों में सिंगल यूज प्‍लास्टिक (single use plastics) और उसके उत्‍पादों पर बैन लगा दिया था। फैसले के तहत भारतीय जहाज सिंगल यूज प्लास्टिक के उत्‍पाद जैसे आइसक्रीम कंटेनर, हॉट डिश कप, माइक्रोवेव डिशेज और चिप्स के थैले आदि का इस्‍तेमाल नहीं करेंगे।

भारत के नौवहन महानिदेशालय की ओर से कहा गया था कि यह प्रतिबंध विदेशी जहाजों के लिए भी लागू होगा। विदेशी जहाजों को भारतीय जलक्षेत्र में प्रवेश करने से पहले यह बताना होगा कि उनके पास सिंगल यूज प्‍लास्टिक तो नहीं है। प्लास्टिक प्रदूषण को लेकर आई इंटरनेशनल मेरीटाइम ऑर्गनाइजेशन (आईएमओ) की रिपोर्ट में कहा गया है कि सागरों और महासागरों में प्‍लास्टिक प्रदूषण यदि इसी तेजी से ढ़ता रहा तो सन 2050 तक महासागरों में प्लास्टिक की मात्रा मछलियों से ज्‍यादा होगी।

– एजेंसी

The post पेसीफ‍िक देश Palau ने सन क्रीम के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया appeared first on updarpan.com.